इंदरगढ़ (नईदुनिया न्यूज)। ग्राम उचाड़ की बहादुर बेटी अंजली को जीवन रक्षक पुरस्कार के लिए गृह मंत्रालय ने नामांकित किया है। अंजलि ने नदी में डूबने वाली 3 किशोरियों की जान बचाकर बहादुरी का परिचय दिया था। इंदरगढ़ तहसील क्षेत्र के ग्राम उचाढ़ की 11 वर्षीय अंजली बघेल पुत्री जनवेद बघेल को नदी में डूबने वाली तीन किशोरियों की जान बचाने के लिए जीवन रक्षक पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया है। उल्लेखनीय है कि ग्राम उचाड़ में गत 7 अक्टूबर 2021 को मामुलिया सिराने गईं 16-17 वर्षीय 6 किशोरियां नहाने के दौरान सिंध नदी में डूबने लगी थीं। जिन्हें डूबता देख इस बहादुर बेटी ने नदी में छलांग लगाकर इनमें से 5 किशोरी पूजा, राखी, संगीता, खुशबू तथा एक अन्य लड़की को सुरक्षित बाहर निकला लिया था। हालांकि बाद में इनमें से संगीता और खुश्बू की भी अस्पताल में मौत हो गई थी। जबकि इसी घटना में खुद अंजली की बड़ी बहिन वैष्णवी गहरी नदी में डूबकर लापता हो गई थी। प्रशासन ने 24 घंटे बाद उसका शव बरामद किया था। लेकिन अंजली की बहादुरी से पूजा तथा राखी सहित तीन किशोरियों की जान बच गई थी। इस बहादुरी के लिए उचाड़ की इस बेटी को गृह मंत्रालय जीवन रक्षक पुरस्कार वर्ष 2022 के लिए दतिया जिला से नामांकित किया गया है।

दतिया कलेक्टर संजय कुमार ने इंदरगढ़ तहसीलदार मोहनी साहू को पत्र जारी कर बहादुर बेटी के डाक्यूमेंट फार्म भरकर भेजने के निर्देश दिए हें। नायव तहसीलदार दीपक यादव ने अंजलि को बुलाकर सारे डाक्यूमेंट भरकर फार्म दतिया कलेक्टर की ओर भेजा है। गौरतलब है कि उचाड़ की इस बहादुर बेटी को दतिया कलेक्टर संजय कुमार ने बुलाकर गृहमंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा के हाथों 10 हजार का नगद पुरुस्कार एवं प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित कराया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close