दतिया-इंदरगढ़ । नईदुनिया न्यूज।

नगर परिषद द्वारा मानसून से पूर्व होने वाले नाले नालियों की सफाई नहीं कराए जाने का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ेगा। बारिश का मौसम शुरू होने को है। लेकिन अब तक नगर के नालों की साफ-सफाई नहीं हुई है। इसके कारण बारिश से जलभराव की समस्या पैदा होना तय है। नगर की कालोनी के घरों पानी भर जाने से पिछले वर्ष भी आमजन को परेशानी उठानी पड़ी थी। सबसे मजेदार बात तो यह है कि निकाय चुनाव के लिए राजा के बाग में बनाए गए मतदान केंद्र के पास ही नाला चौक पड़ा है। जो बारिश में लबालब हो जाएगा। अगर मतदान वाले दिन बारिश हुई तो यहां क्या स्थिति होगी। इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।

स्थानीय निवासियों के मुताबिक मानसून से पूर्व होने वाले रखरखाव को लेकर नगर परिषद द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ सकता है। अधिक बारिश होने से नगर के अंदर बस्ती, राजा का बाग, शीतला गंज में जलभराव की समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा नालों की सफाई नहीं होने के कारण लोगों को समस्याएं और बढ़ जाती है। यहां बने घरों में भी पानी भर जाता है। हर साल लोगों को बरसात के मौसम में परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इन नालों की नहीं हुई सफाई

नगर में राजा का बाग रोड सब्जी मंडी से सेवढ़ा रोड पर बने नाले की नपं ने सफाई नहीं कराई। सेवढ़ा रोड के आसपास लोगों ने ऊपर से पक्का निर्माण कर लिया है। कई लोग इसीमें कचरा डालते हैं। ऐसे में मोटा और भारी कचरा साफ नहीं हो पाता है। मंडी के पास पुलिया की सफाई नहीं होने से सब्जी मंडी एवं मेला ग्राउंड में पानी भर जाता है। इससे बारिश में सब्जी विक्रेताओं को खासी परेशानी उठानी पड़ती है। जबकि इंदरगढ़ नगर परिषद ने जुलाई से मार्च माह तक 20 से 25 अस्थाई सफाई कर्मचारी नाले सफाई के लिए लगाए गए थे। जिसमें नगर परिषद द्वारा 14 लाख रुपये की राशि खर्च किए जाने की जानकारी भी दी गई थी। लेकिन इसके बाद भी नगर की मुख्य नालियां चौक पड़ी हैं। आखिर यह राशि फिर कहां खर्च हुई, जांच का विषय है।

मतदान केंद्रों के बाहर भी गंदगी का आलम

इंदरगढ़ नगर परिषद के पार्षद पदों के लिए 13 जुलाई को मतदान होना है। कुछ मतदान केंद्रों के बाहर अभी भी नालियां चौक पड़ी है। अगर थोड़ी सी की बारिश होती है तो नगर के राजा का बाग छात्रावास मतदान केंद्रों पर वार्ड क्रमांक चार एवं पांच में मतदान करने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। क्योंकि रास्ते में अभी भी जलभराव की समस्या है। दूसरा मतदान केंद्र मणिपुरा प्राइमरी स्कूल में बना है। यहां पूर्व में ही बारिश के समय पानी भर जाने की समस्या रहती है। फिर भी बारिश के मौसम में इस स्कूल को मतदान केंद्र बना दिया गया। जो बरसात होने पर मतदाताओं के लिए परेशानी का कारण बनेगा।

गणेश कालोनी वासियों ने किया चुनाव का बहिष्कार

इधर इंदरगढ़ नगर परिषद से नाराज वार्ड क्रमांक 7 गणेश कालोनी के वार्डवासियों ने मतदान नहीं करने का निर्णय लिया है। वार्डवासी ओमप्रकाश शर्मा, नाथूराम सेन, संजय बघेल, प्रदीप सोनी, वीरसिंह विश्वकर्मा, रमाकांत दुबे, लक्ष्‌मण तिवारी, संजीव गुर्जर, नाथूराम सेन सहित इस कालौनी के आधा सैकड़ा लोगों का कहना है कि 2 साल पहले वहां नाला स्वीकृत हुआ था। आधा नाले का निर्माण हो चुका है। लेकिन नगर परिषद की लापरवाही के कारण अभी तक नाला पूरा नहीं बन सका। जिसके कारण कालौनी एवं घरों में पानी भर रहा है। जल निकासी नहीं होने से कारण स्थानीय रहवासियों को कीचड़ से होकर गुजरना पड़ता है। सीएम हैल्प लाइन 181 एवं दतिया कलेक्टर व स्थानीय जनप्रतिनिधियों को कई बार आवेदन देने के बाद भी कार्रवाई नहीं हुई। नगर परिषद सीएमओ को भी कई बार लिखित में आवेदन दिया गया। इस कालौनी के लोगों का कहना है कि अगर नाला निर्माण का काम शुरू नहीं किया जाता तो सभी कालोनी वाले 13 जुलाई को होने वाले नगरीय निकाय चुनाव में बहिष्कार करेंगे और कोई भी वोट नहीं डालेगा।

उम्मीदवारों को भी सुननी पड़ी खरीखोटी

नगर परिषद के पार्षद उम्मीदवारों को अपने प्रचार के समय वार्ड भ्रमण के दौरान साफ सफाई से नाराज लोगों से खरी खरी सुननी पड़ रही है। पार्षद उम्मीदवारों से वार्डवासियों को कहते सुना जा सकता है कि 5 साल से उनकी गलियों में साफ-सफाई एवं नाला निर्माण की समस्या रही तब कोई सुनने को नहीं आया। अब चुनाव होने पर वादे कर वोट मांगने हर कोई चला आ रहा है।

इनका कहना है

नगर में जल निकासी समस्या अधिक है। कई नाले निर्माण कराए गए हैं। बरसात से पहले नालों की सफाई कर ली जाएगी। वार्डवासियों के वोट नहीं डालने का निर्णय उनके स्वयं का अधिकार है। - महेंद्र सिंह यादव, सीएमओ नगर परिषद् इंदरगढ़।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close