दतिया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दतिया की सांस्कृतिक और साहित्यिक विरासत को मधुकर मिश्र ने संजोय कर रखा। उसी परंपरा को उनका परिवार एवं उनका शिष्य मंडल मधुकर समारोह के माध्यम से प्रतिवर्ष निभा रहा है। यह बात जीवाजी विश्वविद्यालय के पूर्व कुलसचिव डा.आनंद मिश्रा ने बतौर अतिथि मधुकर समारोह में कही। उन्होंने कहाकि इस समारोह के माध्यम से भारत के कई राज्यों से साहित्यकार एवं कलाकार शिरकत करने आते हैं। मधुकर मिश्र का साहित्यिक और सांस्कृतिक अवदान दतिया की अपनी पहचान है।

मधुकर समारोह 2022 का उद्घाटन डा.आनंद मिश्रा एवं बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. मुकेश पांडे ने किया। आयोजन 4 सत्रों में संपन्ना हुआ। जिसमें उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता पूर्व अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राजभाषा आयोग डा.विनय कुमार पाठक ने की। जिन्हें वर्ष 2022 के मधुकर सम्मान के रुप में शाल, श्रीफल सम्मान पत्र स्मृति चिंह भेंटकर अलंकृत किया गया। कार्यक्रम से पूर्व संयोजक विनोद मिश्र ने चारों सत्रों की रूपरेखा प्रस्तुत की। तत्पश्चात मधुकर अलंकरण 2022 का आयोजन हुआ। जिसमें देश की 26 विभूतियों को मधुकर सम्मान से अलंकृत किया गया। सम्मान समारोह से पूर्व पुस्तकों का विमोचन हुआ। इस वर्ष के मधुकर सम्मानों में मधुकर शब्द सृजन सम्मान डा.उमेश शर्मा वृंदावन, मधुकर बुंदेली बोली सम्मान मीनू पांडे भोपाल, मधुकर बाल साहित्य सृजन सम्मान कृष्णा कपूर गाजियाबाद, मधुकर कथा सृजन सम्मान डा.निधि अग्रवाल झांसी, लोक भाषा सम्मान डा.सीमा मोरवाल मथुरा, शब्द मधुकर सम्मान आरती सिंह नागपुर, शब्द अर्चना सम्मान मंजू मन नई दिल्ली, चित्रकार नारायण दास शर्मा सम्मान रेखा भटनागर भोपाल, सुर मधुकर सम्मान मिशा सुमित शर्मा हरदा, सोनी चौधरी नई दिल्ली, शब्द आराधना सम्मान अनुभूति शर्मा छिंदवाड़ा आचार्य अवधेश शुक्ला, संस्कृत संरक्षण सम्मान डा.ज्योति गर्ग मेरठ, कवि मधुप सम्मान बृज किशोर पटेल इटारसी, शब्द मधुकर सम्मान मानस मधुकर सम्मान मनीष दुबे भोपाल, मधुकर वृक्ष संरक्षण सम्मान जाकिर हुसैन मुरैना, शब्द अर्चना सम्मान 2021 प्रीति प्रसाद बिलासपुर, एचबी माहेश्वरी पर्यटन सम्मान अशोक धनिया भोपाल, मिथिलेश गोस्वामी सम्मान अंशिता सिंहा रांची को दिया गया। कार्यक्रम का संचालन अनूप गोस्वामी, अनुभूति शर्मा और रवि भूषण खरे तथा अरुण सद्गुरु ने किया। समारोह में राजनारायण वोहरे, डा.उमेशचंद शर्मा, दिनेशचंद्र दुबे, जितेश खरे, शिवचरण शर्मा, डा.लखन सोनी, अनीता बुंदेला, ऋषिराज मिश्र, मिलिंद मिश्र, मोहित कांकोरिया, कल्पना मिश्रा आदि का योगदान रहा। आभार संतोष मिश्र एवं आनंद मिश्रा ने व्यक्त किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close