Datia News दतिया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। समर्थन मूल्य पर जिले में एक दिसंबर से मोटे अनाज की खरीदी शुरू होगी। इसके लिए सभी आवश्यक तैयारियां की जा रही है। मोटे अनाज की खरीदी के लिए दतिया सहित सेवढ़ा, इंदरगढ़ व भांडेर में खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर मोटे अनाज की खरीद के लिए इलेक्ट्रानिक तौलकांटों के साथ ऐनालॉग मोश्चर मीटर (केलिवेटेड) आदि के भी इंतजाम रहेंगे। ताकि खरीदी कार्य में सुविधा हो। मोटे अनाज के समर्थन मूल्य के तहत ज्वार हाइब्रिड 2970 रुपये प्रति क्विंटल एवं बाजरा 2350 रुपये प्रति क्विंटल की दर निर्धारित की गई है।

खरीफ विपणन वर्ष 2022 में भारत सरकार द्वारा मोटे अनाजों के तहत ज्वार एवं बाजरा के लिए समर्थन मूल्य घोषित कर दिया गया है। समर्थन मूल्य पर जिले के किसान ज्वार एवं बाजरा चार केंद्रों पर विक्रय कर सकेंगे। कलेक्टर संजय कुमार ने बताया कि जिले में केंद्र सरकार द्वारा मोटे अनाज के लिए घोषित समर्थन मूल्य पर ज्वार एवं बाजरा विक्रय के लिए 4 केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने मोटे अनाज के समर्थन मूल्य के तहत खरीदी की जाएगी।

पूरे एक माह होगी केंद्रों पर खरीदी

कलेक्टर ने बताया कि मोटे अनाजों के तहत ज्वार एवं बाजरा का उपार्जन का कार्य 1 दिसंबर से शुरू होकर 31 दिसंबर तक किया जाएगा। इसके लिए सभी उपार्जन केंद्र प्रभारियों को निर्देश दिए गए हैं कि उपार्जन के दौरान केंद्र पर फसल विक्रय के लिए आने वाले कृषकों को किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो। उपार्जन केंद्र सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक खुले रहेंगे। जहां अपनी उपज लेकर आने वाले किसान समर्थन मूल्य पर बिक्री कर सकेंगे। केंद्रों पर किसानों की सुविधा को देखते हुए आवश्यक प्रबंध रहेंगे। ताकि खरीदी कार्य प्रभावित न हो।

बड़े छनना और पंखा परखी का होगा उपयोग

उपार्जन केंद्रों पर किसानों की उपज छनने के लिए बड़ा छनना, पंखा परखी आदि भी उपलब्ध रहेंगे। जिला आपूर्ति अधिकारी एमएल मालवीय ने बताया कि जिले में बनाए गए चार उपार्जन केंद्रों में दतिया नगर में गोविंद मार्केटिंग सोसाइटी दतिया तलैया मोहल्ला, सेवढा में सेवा सहकारी समिति और परसौंदा वामन, इंदरगढ़ में सेवा सहकारी समिति चीना और भांडेर में सेवा सहकारी समिति सिंहपुरा शामिल रहेंगे। मालवीय ने बताया कि उपार्जन केंद्रों पर चार बडे इलेक्ट्रोनिक तोलकांटा लगाए जाने के साथ-साथ इलेक्ट्रोनिक उपकरण कंप्यूटर प्रिंटर डोंगल स्कैनर यूपीएस लैपटाप बैटरी आदि व्यवस्था केंद्रों पर की गई है। उपार्जन केंद्रों पर ऐनालोग माश्चर मीटर (केलिवेटेड) आदि आवश्यक रूप से लगाए जाएंगे।

आपात स्थिति के लिए भी होंगे खास प्रबंध

उपार्जन केंद्रों पर सुरक्षा की दृष्टि से तिरपाल कवर, अग्निशमन यंत्र, रेत की बाल्टी या फर्स्ट एड बाक्स आदि का भी प्रबंध रखने के संबंधितों को निर्देश दिए गए हैं। ताकि आपात स्थिति में किसी किस्म की परेशानी न हो। यह सभी प्रबंध खरीदी केंद्रों पर आवश्यक रूप से रखे जाएंगे। सूचना पटल पर टोल फ्री नंबर भी प्रदर्शित किया जाएगा। साथ ही उपार्जन केंद्रों पर बैनर भी लगाए जाएंगे। जिनमें सभी जानकारी अंकित रहेगी। जिससे किसी किस्म की परेशानी होने पर किसान इन नंबरों पर संपर्क कर सकेंगे।

इनका कहना है

मोटे अनाज की खरीदी के लिए चार केंद्र बनाए गए हैं। यह कार्य 1 दिसंबर से शुरू होगा। समर्थन मूल्य भी निर्धारित कर दिया गया है। सभी केंद्रों पर आवश्यक प्रबंध कराए जा रहे हैं। ताकि किसानों को कोई परेशानी न आएं। - एमएल मालवीय, जिला आपूर्ति अधिकारी दतिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close