सेवढ़ा। नईदुनिया न्यूज

आजादी के समय बनाए गए विश्राम गृहों की स्थिति देखरेख के अभाव में लगातार जर्जर होती जा रही है। जबकि इनकी मरम्मत के लिए संबंधित विभाग को बजट भी मिलता रहा है, लेकिन विश्राम गृहों की हालत में कभी सुधार देखने को नहीं मिला। इसीका कारण है कि आज यह भवन खस्ताहाल स्थिति में पहुंच गए हैं। जिले के तहसील स्तर पर बने अधिकांश विश्राम गृहों की हालत यही है। सेवढ़ा स्थित विश्राम गृह जर्जर होने के कारण बंद कर दिया गया है। यहां बने कमरों की छतों के क्षतिग्रस्त होने के कारण किसी भी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए कार्यपालन यंत्री ने विश्राम गृह में ताला डालने के आदेश दिए हैं। जिसके बाद विश्राम गृह को बंद कर वहां भवन के क्षतिग्रस्त होने का नोटिस बोर्ड टांग दिया गया है। सेवढ़ा तहसील मे यह एकमात्र विश्राम गृह होने के कारण वहां आने वाले राजनेताओं व आला अफसरों को अब रुकने की व्यवस्था में खलल पड़ेगी। ऐसी स्थिति में विभाग द्वारा अभी तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं की गई है।

विश्रामगृह की छत से झड़ रहा प्लास्टर

सेवढ़ा नगर में स्थित इकलौता विश्राम गृह वर्तमान स्थिति के बाद ताला डालकर बंद कर दिया गया है। इस संबंध में विश्रामगृह के कर्मचारी कमलेश शर्मा ने बताया कि कक्ष क्रमांक एक में छत क्षतिग्रस्त होने के कारण विश्राम गृह को बंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि आजादी के बाद निर्माण किए गए सरकारी विश्राम गृह की कंडम हालत होने के कारण 70 वर्ष पुराने विश्रामगृह को पूर्णता बंद कर दिया गया है। आश्चर्य की बात यह है कि विश्रामगृह की रखरखाव के लिए बजट भी दिया जाता है। ऐसे में लोक निर्माण विभाग के जिम्मेदार अफसरों ने इस ओर कतई ध्यान नहीं दिया, जिसके परिणामस्वरूप विश्रामगृहों की स्थिति लगातार जर्जर होती जा रही है। जबकि क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान विशिष्ठ लोगों के रुकने के लिए एकमात्र यही स्थान निश्चित रहता है।

वीआइपी के आने पर होगी परेशानी

विश्रामगृह पर नोएंट्री का बोर्ड चस्पा कर दिए जाने के बाद अब सेवढ़ा में किसी वीआइपी के आने पर उसे रुकने के लिए फिलहाल कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में अगर कभी कोई राजनेता और आला अफसर सेवढ़ा प्रवास पर पहुंच जाएं तो उनके ठहरने के लिए कोई स्थान नहीं है। लोक निर्माण विभाग द्वारा संचालित विश्राम गृह में ताला डाल दिया गया है। कार्यपालन यंत्री दतिया के निर्देश पर विश्राम गृह बंद कर दिए जाने की कार्रवाई की गई है। सेवढ़ा स्थित इकलौता विश्राम गृह को बंद कर दिए जाने के बाद वीआइपी गेस्ट के पहुंचने पर उन्हें रुकने के लिए फिलहाल कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं हो सकी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags