Datia News दतिया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दतिया जिला अस्पताल में मंगलवार दोपहर एक बार फिर प्रसव के दौरान प्रसूता सहित नवजात बच्चे की मौत का मामला सामने आया है। जिसके बाद मृतक प्रसूता के स्वजन ने अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया। स्वजन का आरोप था कि पहले अस्पताल का स्टाफ नार्मल डिलीवरी होने की बात करता रहा। लेकिन जब समस्या बढ़ी तो आपरेशन की तैयारी शुरू हो गई। इस लापरवाही में जच्चा-बच्चा दोनों की जान चली गई। अस्पताल में हंगामा बढ़ता देख वहां मौजूद चिकित्सक कुछ देर के लिए मौके से खिसक लिए। स्वजन के शोर शराबे के कारण अस्पातल में भीड़ जमा हो गई। वहीं इस मामले में सीएमएचओ डा.आरबी कुरेले ने पूरे मामले की जांच कराने की बात कही है।

जानकारी के अनुसार सेवढ़ा निवासी प्रमोद सेन की गर्भवती पत्नी रीना को उसक स्वजन ने डिलीवरी के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। स्वजन के मुताबिक अस्पताल की महिला चिकित्सक ने नार्मल डिलीवरी होने की बात उनसे कही थी। लेकिन काफी देर बाद तक प्रसूता को अस्पताल में भर्ती रखा गया। दोपहर में अचानक उन्हें जानकारी दी गई कि महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई।

इस सूचना पर स्वजन सहित उनके गांव के लोग भी अस्पताल पहुंच गए। इसके बाद डाक्टर पर लापरवाही बरतने के आरोप के साथ हंगामा खड़ा हो गया। वहीं इस मामले को लेकर सीएमएचओ डा.आरबी कुरेले का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। जो भी तथ्य निकल कर सामने आएंगे दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि अभी कुछ दिन पूर्व भी अस्पताल के मेटरनिटी विंग के गेट पर ही प्रसूता का खुले में प्रसव हो जाने का मामला सामने आया। इससे पहले एक भांडेर की प्रसूता की जान भी जा चुकी है। लेकिन इन मामलों के बाद भी अस्पताल प्रबंधन ने कोई कार्रवाई नहीं की।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close