दतिया (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में करवा चौथ पर्व को लेकर तैयारियां बाजार में शुरू हो गई। साड़ियों और सुहाग सामग्रियों की बिक्री से बाजार में रौनक बढ़ है। करवा चौथ व्रत कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि 24 अक्टूबर, रविवार को रोहिणी नक्षत्र में मनाया जाएगा। बाजारों में करवा चौथ की खरीदारी महिलाओं और युवतियों ने प्रारंभ कर दी है। ब्यूटी पार्लर में भी इस दौरान महिलाओं की भीड़ देखी जा रही है।

पंडित उमेश शर्मा ने बताया कि चतुर्थी तिथि का प्रारंभ 24 अक्टूबर को सुबह 3 बजकर 1 मिनट पर होगा। चतुर्थी तिथि का समापन अगले दिन 25 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 43 मिनट पर होगा। चतुर्थी तिथि में चन्द्रोदय व्यापिनी मुहूर्त 24 अक्टूबर को प्राप्त हो रहा है, इसलिए करवा चौथ व्रत 24 अक्टूबर, रविवार को रखा जाएगा। करवा चौथ पूजा का मुहूर्त एक घंटा 17 मिनट का है। करवा चौथ के दिन शाम को 5 बजकर 43 मिनट से शाम 6 बजकर 59 मिनट के मध्य चौथ माता यानी माता पार्वती, भगवान शिव, गणेश जी, भगवान कार्तिकेय का विधिपूर्वक पूजन होगा। इसके बाद चंद्रमा के उदय होने पर उनकी पूजा होगी और चंद्रमा को अर्घ्य दिया जाएगा। उस समय पति की लंबी आयु और सुखी जीवन की कामना की जाती है।

सुहागन स्त्रियां विधि विधान से इस व्रत को रखती हैं। करवा चौथ का व्रत निर्जला रखा जाता है। करवा चौथ पर सोलह श्रृंगार करती हैं, सभी महिलाएं एक साथ एकत्र होकर गोल बनाकर करवा बदलती हैं, पूजा करती हैं, करवा चौथ व्रत की कथा सुनती हैं। इस व्रत में चंद्रमा को अर्घ्य देने के बाद ही पति के हाथों करवे से जल ग्रहण करती है।

बाजार में रौशन, महिलाओं का जमावड़ा

करवाचौथ को लेकर बाजार में रौनक बढ़ गई। खासकर साड़ियों की खरीदारी ख्रूब की जा रही है। इसके साथ ही पूजन सामग्री की बिक्री भी जोरों पर है। स्थानीय मंदिरों में भी करवा चौथ के सामूहिक आयोजन की तैयारियां चल रही हैं। स्थानीय गोविंद देव जी के भंदिर व बिहारी जी के मंदिर में महिलाओं के करवा चौथ में सामूहिक आयोजन होंगे। बाजार में सकोरे (करवा) की बिक्री होने लगे हैं। ग्रामीणजन फुटपाथों पर दुकान सजाकर पूजन सामग्री के साथ करवा बिक्री भी कर रहे है। इन सभी स्थानों महिलाओं का खासा जमावड़ा नजर आ आने लगा है। बाजार में करवाचौथ पर्व को लेकर खरीदारी करतीं महिलाएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local