दतिया। नईदुनिया प्रतिनिधि

'बेटी सशक्त है, पढ़ी लिखी, आत्मनिर्भर है, तो पूरा परिवार सशक्त होगा । बेटी परिवार की धुरी है, बेटी को जन्म देने वाले मां-बाप बड़े ही सौभाग्यशाली हैं। हम सभी को बेटी बचाना है, बेटी को पढ़ाकर, सशक्त बनाना है। महिला बाल विकास विभाग का यह प्रयास सराहनीय है। बेटी को पढ़ाएं, आगे बढ़ाएं' उक्त विचार जिला महिला एवं बाल विकास विभाग, दतिया के तत्वाधान में, एक कदम महिला सशक्तिकरण की ओर, विषय पर 18 जून से 24 जून तक चल रहे, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ सप्ताह के अंतर्गत, आयोजित बाइक रैली का, झंडी दिखाकर, रवाना करते हुए, दतिया कलेक्टर बीएस जामोद ने व्यक्त किए।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होने कहा महिलाओं के डॉइविंग लाइसेंस निःशुल्क बन रहे है, सभी बनवा लें। रैली के शुभारम्भ अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के जेंडर गैप को कम करने के बेटी बचाओ अभियान में कलेक्टर ने बाइक पर बैठकर, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारों को स्वयं लगवाकर, सभी को प्रोत्साहित कर रहे थे। रैली का संयोजन महिला एवं बाल विकास अधिकारी अरविंद उपाध्याय द्वारा किया गया। एवं आभार व्यक्त किया गया।

-यह रहा रैली का मार्ग

रैली डाइट से शुरू होकर पीतंबरा पीठ, मुडियन का कुआं, टाउन हॉल, किला चैक, तिगैलिया होते हुए डाइट पर जाकर समाप्त हुई। इस अवसर पर वन स्टाप प्रशासक सलमा कुरेशी, सीडीपीओ एसके निरंजन, सीडीपीयू धीर सिंह कुशवाह, विजेंद्र सिंह कौरव, समाज सेवी संजय रावत, समाजसेवी अशोक सोनी, सुनील कुशवाहा, यशदीप सिंह, राजीव चैबे, आकाश श्रीवास्तव, हेमंत नामदेव, मनीष शर्मा, राजेंद्र पुलैया, सुधीर पांडे, रवि उपाध्याय, बृजेंद्र सिंह यादव सहित लगभग 4 सैकड़ा बाइक सवार इस रैली में शामिल हुये।

फोटो 21 कार्यक्रम के दौरान मौजूद कलेक्टर

फोटो 22 रैली निकालते शहरवासी

Posted By: Nai Dunia News Network