दतिया। नईदुनिया प्रतिनिधि

त्योहारों के मद्देनजर जहां पर मिठाइयों सहित अन्य खाद्य सामग्रियों पर प्रशासन की मजबूत पकड़ और देखरेख होना चाहिए थी, वह भांडेर उपचुनाव के चलते शून्य हो गई है। दूसरी ओर इससे संबंधित सभी अधिकारियों को चुनाव ड्यूटी में लगा दिया गया है । विगत 1 अक्टूबर से लागू किए गए नियम, जिसमें मिठाइयों के पैकेट पर निर्माण और उपयोग करने की अवधि अंकित होना चाहिए, उस पर भी कोई कार्रवाई अभी तक नहीं हो पाई है। जिले में अभी भी मिठाई सहित अन्य खाद्य सामग्री खुले में और बिना पैकिंग के ही मिल रही है। खाद्य सुरक्षा विभाग की व्यस्तता का खाद्य व्यापारी पूरा फायदा उठा रहे हैं। त्योहार सीजन नवरात्रि से शुरू हो गए हैं, उसके बाद भी संबंधित विभाग उपचुनाव में ड्यूटी में व्यस्त होने के कारण मूल काम नहीं कर पा रहे हैं।

भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण ने जो नियम जारी किए थे, उन नियमों की दतिया जिले के मिठाई व्यापारी खिल्ली उड़ा रहे हैं। इन नियमों के तहत स्पष्ट किया गया था कि मिठाइयों के इस्तेमाल की समय सीमा मिठाई विक्रेता या हलवाई को बतानी होगी। उन्हें बिल देना भी आवश्यक होगा। खाद्य नियामक ने इसे आवश्यक रूप से क्रियान्वित करने के निर्देश भी दिए थे। प्राधिकरण ने यह नियम इसलिए बनाया था कि बासी एवं खराब खाद्य सामग्री जैसे मिठाई आदि का इस्तेमाल करने से ग्राहक बच सके। शुद्ध और सही तरीके से बनी मिठाई का इस्तेमाल बढ़े और स्वास्थ्य भी सुरक्षित रख सके। यह नियम भी अभी तक नियम बनकर ही रह गया। इस क्रियान्वित करने में राज्य शासन के खाद्य विभाग की भी कोई दिलचस्पी नजर नहीं आ रही है। नियम लागू हुए लगभग 20 दिन होने वाले है। इसके साथ ही त्योहार भी सामने है।

अभी तक सूचना तक नहीं दी गई

दतिया जिले में लगभग 363 मिठाई दुकानें शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में हैं, इनमें से किसी भी एक दुकान को भी प्राधिकरण के नियम संबंधित नोटिस जारी नहीं किए गए हैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार जिले में खाद्य सुरक्षा विभाग के पास कर्मचारियों की कमी है। इसी के साथ उपचुनाव के कारण संबंधित अधिकारियों की ड्यूटी भी चुनाव में लगा दी गई है। इसके कारण वे मूल काम नहीं कर पा रहे हैं। अब भले ही त्योहार के सीजन में बनने वाली मिठाइयां किसी भी क्वालिटी की हो या फिर उनके खाने से फूड प्वाइजनिंग के केस सामने आते हैं तो कोई आश्चर्यजनक बात नहीं होगी। अनेक मिठाई विक्रेताओं को अभी तक इस नियम की जानकारी भी नहीं है।

खाद्य सामग्री जांच के लिए चलेगा अभियान

त्योहारों के मद्देनजर बड़े पैमाने पर मिठाइयां व अन्य खाद्य सामग्रियों का निर्माण किया जाता है। प्रतिवर्ष की तरह चलने वाला खाद्य सामग्रियों का जांच अभियान भी आगामी दो-तीन दिनों में चलाया जाना है। यह अभियान कब चलाया जाएगा, इसकी विभाग ने कोई तारीख तो नहीं बताई, पर यह जरूर कहा है कि त्योहारी सीजन में खाद्य पदार्थों पर क्वालिटी कंट्रोल संबंधी नियंत्रण जरूरी है। इस संबंध में हम जल्दी ही एक अभियान चलाने वाले हैें।

इनका कहना है

उपचुनाव के चलते और विभागीय व्यवस्थाओं की कमी कारण मिठाई व्यापारियों को अभी तक नोटिस नहीं दिए जा सके हैं। इसके अलावा विभाग में कर्मचारी भी नहीं है। हम शीघ्र ही शहर के बड़े मिठाई व्यापारियों को इस संबंध में नोटिस जारी कर रहे हैं।

- दिनेश निम, खाद्य सुरक्षा अधिकारी दतिया।

फोटो 5 दुकान पर खुले में बिकती मिठाई सामग्री।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020