थरेट,(नईदुनिया न्यूज)। थरेट थाना क्षेत्र के ग्राम देगुवां में पैसे को लेकर हुए विवाद में गुस्साए पति ने अपनी पत्नी पर हसिए से ताबड़तोड़ वार कर उसकी हत्या कर दी। घटना के बाद जब बच्चों ने अपनी मां को मृत हालत में देखा तो शोर शराबा मचाया। जिससे घबराकर आरोपित मौके से भाग खड़ा हुआ। जिसे घटना के कुछ घंटे बाद ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आरोपित के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज किया है।

घटना के संबंध में मृतक महिला के पुत्र फरियादी वीरसिंह कुशवाह पुत्र रामप्रकाश निवासी ग्राम दिगुवां ने पुलिस को बताया कि पैसे के लेन-देन को लेकर उसके पिता रामप्रकाश कुशवाह पुत्र हरदयाल कुशवाह एवं मां सूरजा देवी के बीच मंगलवार सुबह करीब 8.30 बजे विवाद हो गया था। जिसके बाद गुस्से में उसके पिता ने हसिया से मां सूरजा का गला काटकर हत्या कर दी। पत्नी के शव को रक्तरंजित छोड़कर आरोपित मौके से भाग निकला। जब बच्चों ने यह हादसा देखा तो अन्य लोगों को खबर दी। जिसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची। पुलिस ने शव अपने कब्जे में लेकर उसे पीएम के लिए भिजवाया। साथ ही आरोपित की तलाश शुरू की गई। थाना प्रभारी थरेट विजय लोधी ने पुलिस टीम के साथ दविश देकर आरोपित रामप्रकाश कुशवाह को दिगुवां की पुलिया के पास से गिरफ्तार कर उसके कब्जे से घटना में प्रयुक्त धारदार हसिया जप्त किया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पति से झगड़ा हुआ तो पत्नी ने निगल ली चूहा मारने की दवाः इंदरगढ़ के ग्राम बिसनगपुरा में पति-पत्नी के बीच हुए झगड़े के बाद पत्नी ने मंगलवार सुबह जहर खा लिया। जब उसकी तबीयत बिगड़ी तो स्वजनों ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंचे एएसआइ प्रेमसिंह इंदौरिया ने तत्काल महिला को इलाज के लिए इंदरगढ़ स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां डा.पूर्णांक खरे महिला की हालत गंभीर बताई। पुलिस ने महिला की हालत गंभीर देखते हुए नायब तहसीलदार दीपक यादव बुलाकर महिला के बयान दर्ज कराए। महिला को दतिया रेफर किया गया, जहां उसका इलाज जारी है। जानकारी के अनुसार ग्राम बिसनपुरा निवासी प्रमोद जाटव की 25 वर्षीय पत्नी अर्चना ने मंगलवार सुबह 6 बजे चूहा मार दवाई खा ली थी। जिसे गंभीर हालत में इंदरगढ़ स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां पीड़ित महिला ने बताया कि उसकी शादी 2 साल पहले हुई थी। उसके 2 साल का बच्चा भी है। आए दिन पति, सास, ससुर, जेठानी छोटी-छोटी बातों पर उसके साथ मारपीट करते हैं। जिससे तंग आकर उसने चूहा मारने की दवा खाकर जान देने की कोशिश कर डाली। दबोह निवासी महिला के भाई जीतेंद्र ने बताया कि उसकी बहन और जीजा प्रमोद जाटव के साथ आए दिन झगड़ा होता रहता था। जिस पर उसकी बहन के साथ मारपीट की जाती थी।

तहसीलदार व डाक्टर के बीच हुई बहसः इस बीच महिला के बयान लेने पहुंचे इंदरगढ़ नायब तहसीलदार दीपक यादव एवं डा.जितेंद्र वर्मा के बीच कागजात पर सील लगाने को लेकर बहस हो गई। थरेट पुलिस ने नायब तहसीलदार को महिला के कथन लेने बुलाया था। नायब तहसीलदार के मुताबिक ड्यूटी पर तैनात जीतेंद्र वर्मा से जब कथन उपरांत सील लगाने एवं अपनी रिपोर्ट देने के लिए कहा गया तो उन्होंने सील आफिस में होने की बात कही। इस संबंध में डाक्टर के व्यवहार को लेकर कलेक्टर को प्रतिवेदन भी भेजा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close