सोनकच्छ। पिछले पांच दिनों से बंद वैक्सीनेशन के बाद अब क्षेत्र में 21 जून योग दिवस से युद्ध स्तर पर टीकाकरण किया जाएगा। जिला प्रशासन भी पिछले दो दिनों से मीटिंग के माध्यम से पूरे जिले के स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक लेकर इस महाअभियान को सफल बनाने का प्रयास कर रहा है।

जानकारी के अनुसार जिले में 200 से अधिक केंद्र बनाए जाएंगे, जहां रंगोली बनाई जाएगी व टेंट की व्यवस्थाएं की जाएगी। जिले में सोमवार को 30 हजार वैक्सीन लगाने का लक्ष्‌य रखा गया है। इसके साथ ही यह अभियान आगामी एक सप्ताह तक जारी रहेगा, जिसमें वैक्सीन की उपलब्धता के अनुसार लक्ष्‌य निर्धारित किए जाएंगे।

आठ तहसील में सोनकच्छ को केवल 1800 वैक्सीन-

जिले में आठ तहसील है, जिसमें देवास, बागली, खातेगांव, कन्नाौद, सतवास, बागली, टोंकखुर्द व सोनकच्छ शामिल है। मिली जानकारी के अनुसार सोनकच्छ तहसील को केवल दो हजार वैक्सीन दिए जा रहे हैं, जबकि कुल वैक्सीन के आधार पर चार हजार वैक्सीन तहसील को मिलना चाहिए। इधर स्वास्थ विभाग जोरों से तैयारी में लगा हुआ है। अभी तक केवल नगर का एक ही सेंटर था, जिसमें टीकाकरण किया जा रहा था। भीड़ को देखते हुए एक और सेंटर बनाकर शासकीय अस्पताल में बनाकर टीकाकरण किया जाएगा। लेकिन विडंबना है कि हमेशा की तरह विकास में पीछे रहा क्षेत्र वैक्सीन की उपलब्धता में भी पीछे नजर आ रहा है। टीकाकरण महाभियान को देखते हुए तहसील में सोनकच्छ, गंधर्वपुरी, पीपलरावां, खुटखेड़ा, बीसाखेड़ी, चौबाराजागीर, गढ़खजुरिया, तालौद, भौंरासा में सेंटर बनाए गए हैं। इन सभी जगह पर टेंट लगाकर रंगोली बनाई जाएंगी।

सोनकच्छ क्षेत्र की हो रही लगातार उपेक्षा

नागरिकों का कहना है कि जब से वैक्सीनेशन शुरू हुआ है तब से लेकर अब तक अन्य तहसीलों की अपेक्षा नगर को कम वैक्सीन मिली है। जब तहसील में 100 वैक्सीन भेजी जाती थी तो अन्य तहसीलों में इसका आंकड़ा दो गुना या उससे अधिक होता था। इसी तरह इस महाभियान में भी राजनीति का शिकार होते हुए पड़ोसी तहसील हाटपीपल्या में ही औसत से ज्यादा वैक्सीन दी गई है। एक तरफ राजनीति का शिकार हुई तहसील में पिछले पांच दिनों से टीकाकरण बंद है। इसके पूर्व रोजाना औसतन 500 वैक्सीन लगाई जा रही थी। इसके अनुसार पांच दिनों में 2500 लोगों को वैक्सीन लगाई जा सकती थी। अब जब जनप्रतिनिधि इसका उद्घाटन करेंगे, तब तक के लिए स्टॉक किया गया है और वैक्सीनेशन बंद रखा गया है।

आखिर क्यों हो रहा पक्षपात

वरिष्ठ अधिवक्ता एसएन लाठी का कहना है कि तहसील की जनता के साथ यह पक्षपात आखिर क्यों हो रहा है। हम सब मिलकर लोगों को वैक्सीन के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। इस प्रकार का पक्षपात गलत है। राजनीति अपनी जगह है। सोनकच्छ में विधायक कांग्रेस का है पर जनता का अधिकार बराबर है। सभी तहसीलों को बराबर वैक्सीन मिले।

जिलाधीश से मुलाकात करेंगे

रोटरी क्लब अध्यक्ष कमल नागर का कहना है कि इस प्रकार के व्यवहार के लिए हम जिलाधीश से मुलाकात करेंगे। महाअभियान में लोगों को हम प्रेरित कर रहे हैं। लोगों की यही शिकायत रहती है कि हम जब जाते हैं तो घंटों लाइन में लगने के बाद वैक्सीन खत्म हो जाती है, जिससे लोग निराश हो जाते हैं। प्रदेश व केंद्र सरकार इस तरफ ध्यान दें।

नागरिक होंगे परेशान

आजाद अध्यापक संघ के जिला अध्यक्ष राजेंद्रसिंह सेंधव का कहना है कि यदि महाअभियान के अंतर्गत वैक्सीनेशन करवाने गए लोगों को जब जानकारी लगेगी कि वैक्सीन खत्म हो गई है तो वो निराश होने के साथ ही अगली बार परेशान होकर नहीं जाएंगे, इसलिए सभी क्षेत्रों को बराबर वैक्सीन देनी चाहिए।

समस्या का निराकरण करेंगे

भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेंद्रसिंह राजपूत का कहना है कि जिलाधीश और जिलाध्यक्ष से चर्चा कर क्षेत्र की समस्या का निराकरण किया जाएगा। क्षेत्र की जनता यदि परेशान हो रही है तो इस बात को गंभीरता से लिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags