देवास(नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलेक्टर कार्यायल में कृषि विभाग, बीज उत्पादक समितियों एवं अन्य संबंधित विभाग की समीक्षा बैठक संपन्ना हुई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले में विगत दो वर्षों से अधिक वर्षा होने के कारण सोयाबीन की फसल पूरी तरह से खराब हुई है। इस कारण इस बार किसानों के पास सोयाबीन बीज उपलब्ध नहीं है। उन्होंने बीज सहकारी समितियों को कहा कि कृषि विभाग से प्रमाणित उन्नात किस्म एवं उच्च गुणवत्ता का सोयाबीन बीज किसानों को दो दिन में उपलब्ध कराएं। जिससे किसान खेत में समय पर सोयाबीन बीज की बोवनी कर सके। किसानों को सोयाबीन बीज उपलब्ध नहीं कराने पर कृषि बीज उत्पादक समितियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले में सोयाबीन के अलावा मक्का, ज्वार सहित अन्य फसलों के बीज समय उपलब्ध हो। जिससे फसल की बुआई समय में हो सके। उन्होंने कहा कि किसानों को अभियान चलाकर बीज एवं खाद प्रदान किया जाएं। बीज सरकारी रेट पर उपलब्ध कराया जाएं। इसमें किसी भी प्रकार की अव्यवस्था न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाएं। सभी किसान से आग्रह है कि खरीफ सीजन शुरू होने वाला है ऐसे में किसान पंजीकृत दुकान से ही बीज खरीदें। सबसे

महत्वपूर्ण है कि जो भी खरीदे उसका पक्का बिल लें। बैठक में उप संचालक कृषि ने बताया कि जिले में इस बार सोयाबीन का 3 लाख 49 हजार हेक्टेयर, मक्का 42 हजार 5 सौ हेक्टेयर, अरहर 56 सौ हेक्टेयर व अन्य फसलों का 6 हजार 750 हेक्टेयर में प्रस्तावित लक्ष्‌य रखा गया है। बैठक में उप आयुक्त सहकारिता महेन्द्र दीक्षित, उपसंचालक कृषि आरपी कनेरिया, कृषि विभाग के अधिकारियों सहित जिले की बीज सहकारी समितियों के प्रभारी

उपस्थित थे।

कालाबाजारी को रोकने के लिए उडनदस्ता दल का गठन

कलेक्टर शुक्ला ने कृषकों को खरीफ 2021 के लिए उच्च गुणवत्ता व मानक स्तर का रासायनिक उर्वरक, पौध संरक्षण औषधी एवं बीज उपलब्ध कराने के लिए एवं कालाबाजारी को रोकने के लिए उडनदस्ता दल का गठन किया है। उडनदस्ता दल में संबंधित अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व), संबंधित अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी (कृषि), संबंधित तहसील के तहसीलदार, नायब तहसीलदार, संबंधित विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी शामिल है। उडनदस्ता दल अनुभाग अंतर्गत भण्डारित बीज, उर्वरक एवं कीटनाशक औषधि की गुणवत्ता सुनिश्चित के लिए अनुभाग में स्थित डबल लाक केंद्रों, निजी उर्वरक, बीज एवं कीटनाशक औषधि विक्रेताओं, बीज उत्पादक संस्थाओं एवं सहकारी समितियों

को आकस्मिक रूप से निरीक्षण करेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags