देवास (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में डेंगू को लेकर अलर्ट और सावधान हो जाइए...क्योंकि जिले में डेंगू ने दस्तक दे दी है। इस साल समय से पहले ही डेंगू के मरीज मिलने लगे हैं। इस साल जुलाई में दो मरीज सामने आ चुके हैं। इसमें एक महिला और पुरूष शामिल हैं। पिछले साल सितंबर में मरीज सामने आए थे, लेकिन इस पहला जुलाई में डेंगू की दस्तक से स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। दोनों मरीजों में एक मरीज शाजापुर के जिले का रहने वाले हैं जबकि दूसरा मरीज शहर के फोजी नगर का है। इसमें भी शहर के मरीज की हिस्ट्री माइग्रेसन की सामने आ रही है। फोजी नगर के मरीज की हिस्ट्री उज्जैन की सामने आई है जो उज्जैन से बीमार होने के बाद देवास में भर्ती हैं। मरीजों के मिलने के बाद स्वास्थ्य ने फोजी नगर में लार्वा सर्वे, नगर निगम के माध्यम से फागिंग और अन्य रोकथाम की गतिविधियां करवाई हैं। एक घर में लार्वा मिला था जिसे नष्ट करवाया गया है

-इस साल पहले ही डेंगू की दस्तक का ये कारण

जिला मलेरिया अधिकारी रश्मि दुबे ने बताया कि इस बार जिले में डेंगू ने जुलाई में ही दस्तक दे दी है। पिछले साल सितंबर में मरीज सामने आए थे। दुबे ने बताया कि कुछ क्षेत्रों में पहले सी ही बारिश हो रही है। जलजमाव की स्थिति भी सामने आ रही है। टायरों में, कचरे के बर्तन, छत पर रखे बर्तनों और सामानों में पानी भरा होने से एडिज मच्छर आसानी से अंडे देता है। कई लोग अभी भी कूलरों का इस्तेमाल कर रहे हैं या फिर कुलर बंद हैं, लेकिन हाल और कमरों में ही रखे हैं। जिससे लार्वा पनपता है।

फौजी नगर में लार्वा को नष्ट किया

मलेरिया अधिकारी दुबे ने बताया कि फोजी नगर में मरीज के मिलने के बाद टीम ने घर-घर सर्वे किया। फीवर सर्वे भी करवाया गया है। एक घर में एडिज मच्छर का लावा मिला था। जिसे नष्ट किया गया है। लोगों को इस मौसम में सावधानी और अलर्ट रहने की जरूर है। साफ सफाई रखें। साफ पानी भी जमा नहीं होने दें।

जागरूकता के साथ करवाएंगे जुर्माना

मलेरिया अधिकारी दुबे ने बताया कि लार्वा मिलेगा तो नगर निगम के माध्यम से जुर्माना भी करवाएंगे। स्कूलों, घरों, व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और कॉलेज में कार्रवाई करेंगे। नगर निगम को अधिकार होता है। वो जुर्माना करता है। कमिश्नर से बात करेंगे। मच्छर का लार्वा पाया गया तो जुर्माने की कार्रवाई करेंगे। लोगों अपने घरों में साफ सफाई रखें।

सफाई का लेकर ध्यान दें...ये करें

-कूलरों की सफाई करें

-छत पर पानी से भरे बर्तनों को खाली करें

-बारिश का पानी जमा नहीं होने दें

-पक्षियों के लिए पानी रखने वाले बर्तनों में लार्वा जमा हो सकता है

-पौधों की सजावट वाली ट्रे के साफ पानी में आसानी लार्वा हो सकता है।

यहां भी अलर्ट होना पड़ेगा

शहर में कई स्थानों पर निर्माण हो रहा है। इस दौरान ड्रमों में पानी को स्टोर करके रखा जा रहा है। जिससे डेंगू का लार्वा पनपना हैं।

कई बार कंस्ट्रक्सन साइट में ड्रम में भी आसानी लावा ग्रोथ करता है, क्योंक पानी के ड्रमों को ढंका नहीं जाता है। साथ ही ग्रामीण इलाकों में भी पानी जमा रखा जाता है। जिसे ढंका नहीं जाता है।

ये हैं डेंगू के लक्ष्‌ण

-हाथ- पैरों में दर्द

-तेज बुखार, दवा के बाद भी असर नहीं

-सिर दर्द, आंखों के चारों तरफ दर्द

-शरीर में कमजोरी में महसूस होना

एक्सपर्ट व्यू...डाक्टर बीआर शुक्ला

अगर डेंगू के लक्ष्‌ण हो तो तुंरत जांच करवाएं। गंभीर स्थिति में प्लेटलेट्स कम होने लगते हैं। जिससे पेशाब में खून आना लगता है। खून की उल्टियां शुरू हो जाती है। इस परिस्थिति में ब्लड चढ़ाना होता है। इसलिए अगर किसी को लक्ष्‌ण हो तो देरी ना करें। डाक्टर से संपर्क करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local