देवास(नईदुनिया प्रतिनिधि)। त्योहारों में डेंगू को मत भूलिए, क्योंकि अभी भी केस निकल रहे हैं। जिले में अब तक 133 डेंगू पाजिटिव मरीज निकल चुके हैं, हालांकि राहत की बात है कि सभी इलाज के बाद स्वस्थ हो गए हैं। गुरुवार को जिला अस्पताल में 15 संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। जिनमें से छह मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई है। सभी को इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है।

शहर में सबसे ज्यादा प्रकोप बढ़ा है। शहरी क्षेत्र में 54 डेंगू मरीज सामने आ चुके हैं जिनमें से कई कालोनियां हाटस्पाट की श्रेणी में है। वहीं इसके अलावा बागली, सोनकच्छ और कन्नाौद क्षेत्र भी सबसे ज्यादा डेंगू प्रभावित हैं।

गुरुवार को देवास शहर के अमोना, गुराड़िया, इटावा भौंरासा और मल्हार रोड पर के मरीज मिले हैं। संभावना जताई जा रही थी कि बारिश थमने के बाद डेंगू के मरीज की संख्या में कमी आएगी, लेकिन अभी डेंगू से राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। अक्टूबर माह तक इसी तरह के हालात बने रहे सकते हैं, लेकिन यह माह बीमारी का सीजन हैं। इसलिए लोगों को सावधानी बरतना होगी। त्योहारों में कई लोग बीमारी को भूल गए हैं और साफ-सफाई की तरफ ध्यान नहीं जा रहा है और भीड़भाड़ वाले इलाकों में भी लोगों का आना जाना है इसलिए लोग डेंगू बुखार को लेकर सतर्क रहें, अलर्ट रहे हैं अगर बुखार हो तो तुरंत जांच करवाएं।

-सितंबर में में ज्यादा अटैक

इस साल डेंगू ने अगस्त माह में ही दस्तक दे दी थी। पिछले साल सितंबर में जिले में डेंगू का मरीज

मिलना शुरू हुए थे, लेकिन इस बार जल्द केस मिले थे। वहीं उसके बाद से ही लगातार केस में बढ़े हैं। सितंबर में डेंगू का ज्यादा अटैक सामने आया है। वहीं अब अक्टूबर में भी डेंगू का प्रकोप कम नहीं दिख रहा है, हालांकि बारिश थमने से जल जमाव की स्थिति नहीं है, लेकिन फिर भी केस में बढ़ोतरी हैं। लोग अपने स्तर पर साफ-सफाई को लेकर विशेष ध्यान रखें।

ये हैं डेंगू के लक्षण

-हाथ- पैरों में दर्द

-तेज बुखार, दवा के बाद भी असर नहीं

-सिर दर्द, आंखों के चारों तरफ दर्द

-शरीर में कमजोरी में महसूस होना

अभी भी जागरूक रहें

जिला अस्पताल के डाक्टर बीआर शुक्ला ने बताया कि अभी भी वायरल इंफेक्शन के केस आ रहे हैं। डेंगू के मरीजों में प्लेटलेट्स कम हो रहे हैं, लेकिन राहत है कि इलाज के बाद मरीज रिकवर हो रहे हैं। अभी लोगों को सतर्क करने की जरूरत है। इसलिए अगर किसी को लक्षण हो तो देरी ना करें। डाक्टर से संपर्क करें।

-सफाई का लेकर ध्यान दें...ये करें

-छत पर पानी से भरे बर्तनों को खाली करें

-बारिश का पानी जमा नहीं होने दें

-पक्षियों के लिए पानी रखने वाले बर्तनों में लार्वा जमा हो सकता है

-पौधों की सजावट वाली ट्रे के साफ पानी में आसानी लार्वा हो सकता है।

-घरों की सफाई को लेकर भी ध्यान दें

ये स्थिति जिले की

देवास शहर क्षेत्र में 54

टोंकखुर्द-2

सोनकच्छ-16

बागली-26

कन्नाौद-13

खातेगांव-8

बरोठा-10

अन्य जिले 04

गुरुवार का जांच में छह लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। लोगों को बीमारी को लापरवाह नहीं होना है। सावधानी बरतना है। साफ सफाई को विशेष ध्यान दें। साफ पानी का भी जलजमाव नहीं होने से दें।

-डा. रश्मि दुबे, जिला मलेरिया अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local