सोनकच्छ (नईदुनिया न्यूज)। इन दिनों देवास-भोपाल हाइवे पर जानलेवा गड्ढे हो चुके हैं। ये गड्ढे दुर्घटना का कारण बन रहे हैं। इस मार्ग पर वैसे ही मवेशियों का जमावड़ा लगा रहता है और अब बड़े-बड़े गड्ढों ने वाहन चालकों की मुसीबत को और बढ़ा दिया है। कहने के लिए यह स्टेट हाइवे है, लेकिन इस पर आते ही ऐसा प्रतीत होता है जैसे कोई अविकसित गांव के जर्जर मार्ग से गुजर रहे हैं। टोल प्रबंधन सख्ती से टैक्स की वसूली तो करता है, लेकिन वाहन चालकों को दी जाने वाली सुविधाओं को दरकिनार किया जा रहा है। इसे लेकर वाहन चालकों में नाराजगी भी देखी जा रही है।

गौरतलब है कि देवास-भोपाल कॉरिडोर लिमिटेड द्वारा टोल प्लाजा पर टोल की वसूली की जाती है। इस फोरलेन हाइवे पर बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं। कई बार गड्ढों की वजह से दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं, जिसमें कई लोगों की तो जान भी चली गई। टोल प्रबंधन गड्ढों को भरने एवं दुर्घटनाओं को रोकने के बजाय केवल टोल वसूली पर ही ध्यान दे रहा है। भारत सरकार द्वारा सभी टोल प्लाजा पर आगामी दिनों में पूरी तरह से फास्टैग के माध्यम से वसूली की जाएगी, जिससे संबंधित के खाते से राशि काट ली जाएगी, लेकिन क्या इन वाहन चालक की सुविधाओं पर भी कोई ध्यान दिया जाएगा यह एक विचारणीय प्रश्न बनकर रह गया है। रात में तो ये गड्ढे नजर नहीं आते हैं, जिससे दुर्घटना की संभावना बढ़ जाती है। पिछली बार बारिश के बाद इन गड्ढों का पैचवर्क कंपनी ने कर दिया था, लेकिन इस बार अभी तक गड्ढे नहीं भरे हैं।

दुर्घटना की आशंका बनी रहती है

अर्जुन बागवान ने बताया कि मुझे नियमित रूप से देवास आनाजाना पड़ता है, लेकिन इस रोड पर जो गड्ढे हो रहे हैं, उससे परेशानी होती है। टोल प्लाजा प्रबंधन जिस तरह से टैक्स की वसूली करता है, उसी तरह से उसे सुविधा भी देनी चाहिए।

अरुण शर्मा ने बताया कि मुझे हफ्ते में दो-तीन बार इंदौर जाना होता है। इस रोड पर काफी गड्ढे हो गए हैं। इससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। रात में तो गड्ढे दिखाई ही नहीं देते। अन्य वाहन भी गड्ढों से बचने के लिए इधर-उधर हो जाते हैं, जिससे इनमें आपस में टकराव की स्थिति बन जाती है।

कार्य प्रगति पर है

इस मामले में भौंरासा टोल प्लाज के प्रबंधक अरुण शर्मा का कहना है कि रोड का कार्य प्रगति पर है। भोपाल की तरफ से पैचवर्क होता हुआ आ रहा है। तीन-चार दिनों में रोड पर जितने भी गड्ढे हैं, वे भर दिए जाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस