-उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर अपडेट होते ही होगा अमल

चंद्रप्रकाश शर्मा

देवास। नईदुनिया प्रतिनिधि

बिजली कंपनी द्वारा किया जाने वाला मेंटेनेंस लोगों के लिए मुसीबत बना हुआ है। बगैर सूचना के किए जाने वाले मेंटेनेंस के चलते लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ती है, लेकिन अब इस परेशानी से काफी हद तक निजात मिलने के आसार हैं। यह संभव हो रहा है कि बिजली कंपनी के नवाचार से जिसमें मेंटेनेंस से पहले उपभोक्ताओं के मोबाइल पर मैसेज भेजे जाएंगे। इसमें बताया जाएगा कि मेंटेनेंस के कारण निर्धारित तारीख को उनके क्षेत्र की बिजली बंद रहेगी।

बिजली कंपनी के अनुसार ग्राहकों के फोन नंबर कंपनी की सूचना प्रौद्योगिकी टीम के पास दर्ज हैं। इसमें देवास जिले के करीब डेढ़ लाख नंबर कंपनी के रिकॉर्ड में बिजली के सर्विस क्रमांक के साथ फीड है। कंपनी के एमडी आकाश त्रिपाठी की टीम सुपर मॉनिटरिंग के कारण तकनीक का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल कर रही है। इसके तहत जब भी बिजली के अमले को मेंटेनेंस कार्य करना होगा तो फीडर से लाइट बंद करने की सूचना ग्राहकों, फीडर का कार्य देखने वालों एवं कंपनी के आला अधिकारियों को देना होगी। विभागीय सूचना से ज्यादा अहम हजारों ग्राहकों की बिजली बंद करने की सूचना अहम होती है, इसके लिए ऊर्जा मित्र योजना के माध्यम से ग्राहकों को समय पर पूर्व सूचना दी जाएगी।

औद्योगिक क्षेत्र में शुरू

शहर में फिलहाल औद्योगिक क्षेत्र में यह व्यवस्था शुरू हो गई है लेकिन घरेलू उपभोक्ताओं के लिए व्यवस्था जल्द शुरू होगी। इस कार्य के लिए कंपनी द्वारा एक एसएमएस उपभोक्ता के मोबाइल पर भेजा जाएगा। इसमें बताया जाएगा कि आपके क्षेत्र की मेंटेनेंस कार्य के लिए बिजली कब व कितनी देर के लिए बंद रहेगी। यह भी लिखा रहेगा कि इस दौरान संभावित कष्ट के लिए खेद है। इस व्यवस्था से पूर्व में ही अपने मोबाइल पर अधिकृत रूप से सूचना पाने से बिजली उपभोक्ता समय विशेष में बिजली बंद रहने से पूर्व से ही तैयारी कर सकेंगे।

मेंटेनेंस के नाम पर होती है घंटों कटौती

अब तक यही शिकायत सामने आती थी कि मेंटेनेंस के नाम पर घंटों कटौती की जाती थी। लोगों को पूर्व में इसकी सूचना नहीं दी जाती थी। बिजली गुल होने पर जब वे दफ्तर में फोन करके पूछते तब पता चलता कि बिजली कंपनी मेंटेनेंस कर रही है। इसके चलते परेशानी बढ़ जाती थी। सवाल भी उठते थे कि हर साल होने वाले मेंटेनेंस के बावजूद भी बिजली व्यवस्था में सुधार नहीं होता था। प्री मानसून मेंटेनेंस की पोल तो अक्सर खुलती है जब हल्की सी बूंदाबांदी और हवा चलने पर बिजली काट दी जाती है। इस समस्या की ओर बिजली कंपनी ध्यान नहीं दे पा रही जिसके चलते असंतोष बढ़ रहा है।

मोबाइल नंबर कर रहे अपडेट

विविकं के कार्यपालन यंत्री एलआर अहिरवार ने बताया कि इस तरह की योजना शुरू होने वाली है। इसमें मेंटेनेंस से पहले लोगों के मोबाइल पर मैसेज भेजा जाएगा। अभी उपभोक्ताओं के नंबरों को फीड कर रहे हैं। इंडस्ट्री के लिए यह शुरू हो चुका है। इंडस्ट्रीयल क्षेत्र में मेंटेनेंस से पहले मोबाइल पर मैसेज भेज रहे हैं। इसके साथ ही बिल संबंधी, बकाया राशि संबंधी आदि जानकारी भी मोबाइल पर मैसेज द्वारा भेजी जाएगी। जैसे ही सभी नंबर अपडेट हो जाएंगे तो इसे शुरू कर देंगे।