कन्नौद। समीप के ग्राम टांकलीखेड़ा में कच्चे मार्ग के कारण ग्रामीणों व छात्र-छात्राओं को काफी परेशानियां उठाना पड़ रही है। ग्रामीण रियाज पटेल, सैयद इरशाद अली, रमजान ने बताया कि टांकलीखेड़ा ग्राम के ननासा पंचायत के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में स्थित नई मस्जिद से बस्ती में जाने वाले कच्चे मार्ग पर बारिश के कारण कीचड़ व गंदगी जमा हो रही है। यहां से निकलते समय लोगों को बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विशेषकर छात्र-छात्राओं व छोटे-छोटे बच्चों को ज्यादा परेशानी हो रही है। इस मार्ग के निर्माण की मांग ग्रामीणों द्वारा की गई है।

18 केएनडी-01ः कीचड़ भरे मार्ग से वाहन निकालते हुए युवक। -नईदुनिया।

रविवार को एक घंटे तक हुई झमाझम बारिश

कन्नौद। नगर में रविवार को दोपहर लगभग एक घंटे तक झमाझम बारिश हुई। इस दौरान आसमान में घने काले बादल छाए रहे। तेज बारिश के कारण नगर की सड़कों पर पानी जमा हो गया। दोपहर 2.15 बजे से 3.15 बजे तक की बारिश से यहां पर लगने वाले हाट बाजार में कुछ समय के लिए सन्नाटा पसर गया। बारिश का क्रम रुक-रुककर देर शाम तक चलता रहा।

18 केएनडी-02ः बारिश से सड़कों पर जमा पानी। -नईदुनिया।

श्मशान घाट परिसर में किया पौधारोपण

चौबाराधीरा। पर्यावरण संरक्षण के उद्देश्य को लेकर इकलेरा माताजी के पूर्व सरपंच रामप्यारी बाई पाटीदार के नेतृत्व में महिलाओं ने कालीसिंध नदी के तट पर स्थित श्मशान घाट परिसर में नीम, बरगद, आम, जामुन आदि के लगभग 20 पौधे रोपे।

18 सीबीआर-01ः श्मशान घाट परिसर में पौधारोपण करते हुए महिलाएं। -नईदुनिया।

-----------

हाटपीपल्या को विकासखंड का दर्जा देने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा

हाटपीपल्या। हाटपीपल्या को विकासखंड का दर्ज देने की मांग को लेकर सहकारी नेता रमेशचंद्र जायसवाल ने लिंबोदा प्रवास के दौरान सांसद महेंद्र सोलंकी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि प्रथक विकासखंड बनने से हाटपीपल्या तहसील क्षेत्र का समुचित विकास हो सकेगा व जनता को प्रदेश सरकार की योजनाओं के साथ ही केंद्र सरकार की योजनाओं का भी त्वरित लाभ मिल सकेगा। ज्ञापन में बताया कि हाटपीपल्या को तहसील का दर्जा मिले लगभग 11 वर्ष का समय हो गया है। तहसील हाटपीपल्या काफी बड़ा क्षेत्र होकर अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोग बड़ी संख्या में निवासरत है। वर्तमान में हाटपीपल्या तहसील बागली विकासखंड में आती है। बागली, हाटपीपल्या से 16 किलोमीटर दूरी पर स्थित है व हाटपीपल्या के अंतिम ग्रामीण क्षेत्र से करीब 60 किमी दूरी पर स्थित है। हाटपीपल्या एक बड़ा व्यावसायिक नगर होकर यहां कृषि उपज मंडी, नगर पंचायत, पुलिस थाना, तहसील, मार्केटिंग सोसायटी सहित अनेक शासकीय व अर्द्‌धशासकीय संस्थाएं है। हाटपीपल्या क्षेत्र के समुचित विकास के लिए हाटपीपल्या को पृथक विकासखंड बनाया जाना आवश्यक है।

18 एचटीपी-01ः सांसद महेंद्र सोलंकी को ज्ञापन सौंपते हुए सहकारी नेता रमेशचंद्र जायसवाल। -नईदुनिया।

----------

कई जगहों पर रोपे पौधे, सुरक्षा का लिया संकल्प

सिरोल्या। सिरोल्या में कई जगहों पर जनप्रतिनिधियों ने पौधरोपण किया व सुरक्षा का संकल्प लिया। मनकामेश्वर मंदिर, कन्या हाई स्कूल, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, मांगलिक भवन, मुक्तिधाम, आंगनवाड़ी भवन सहित अन्य धार्मिक जगहों पर पौधारोपण किया। अतिथि के रुप में क्षेत्रीय विधायक मनोज चौधरी उपस्थित थे। इस अवसर पर सरपंच राकेश मंडलोई, सचिव कन्हैयालाल पटेल साहित ग्रामवासी उपस्थित थे।

18 एसआरएल-01ः पौधारोपण करते हुए जनप्रतिनिधि। -नईदुनिया।

-------