देवास। देवास के पीपलरावां में पेट्रोल पंप पर लूट का मामला फर्जी निकला। पंप कर्मचारियों ने मिलकर लूट झूठी काहनी बनाई थी। पुलिस ने पांचों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से 3 लाख 95 हजार रुपये बरामद किए हैं। मामले का पर्दाफाश बुधवार को एसपी डाक्टर शिवदयाल सिंह ने प्रेसवार्ता कर किया।

एसपी सिंह ने बताया कि 16 मई की रात करीब 2 बजे पीपलरावां पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी। इस ईसालखेड़ी रोड पर पेट्रोल पंप पर लूट की घटना को बदमाशों ने अंजाम दिया। पंप के कर्मचारियों ने बताया था कि बदमाश करीब 4 लाख रुपये लूट कर ले गए और कर्मचारियों के साथ मारपीट की। थाना प्रभारी सीएल कटारे मौके पर पहुंचे। पंप संचालक महेंद्र गोहिल की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज किया गया। पुलिस ने जांच में पाया कि घटना को अंजाम देने वाले आरोपित पर पंप कार्य करने वाले कर्मचारी हैं।

जिस पर पुलिस ने मैनेजर धीरज उर्फ अंकित राजपूत से पूछताछ की, तो लूट की पूरी कहानी फर्जी निकली। उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर लूट की झूठी कहानी गढ़ी। एसपी सिंह ने बताया कि आरोपित पेट्रोल पंप पर काम करते थे।

जिसमें मैनेजर धीरज उर्फ अंकित पिता राजेंद्र सिंह राजपूत था। विष्णु पुत्र कलम सिंह हाड़ा चौकीदार था। बलवंत पुत्र विष्णु हाड़ा, जितेंद्र पुत्र लालसिंह राजपूत व गोविंद हाड़ा कार्य करते थे। सभी मिलकर लूट की कहानी पुलिस को बताई थी। आरोपितों ने आपस में रुपये बांट लिए थे। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close