देवास। भाई-बहनों के अटूट प्रेम का पर्व रक्षाबंधन 11 अगस्त को बनाया जाएगा। इस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर अपनी सुरक्षा का संकल्प दिलाती हैं। रक्षाबंधन के दिन कई बहनें अपने भाइयों से दूर होंगी। ऐसी बहनों के रक्षासूत्र को भाइयों तक पहुंचाने के लिए डाक विभाग मुस्तैद हो गया है। भाईयों से दूर बहनों द्वारा राखी भेजने के लिए डाक सेवाएं ली जा रही है। राखी समय पर भाईयों को मिले। इसलिए इंदौर संभाग के अधीनस्थ देवास प्रधान डाकघर 7 अगस्त को राखी मेल बुकिंग कार्य के लिए खोले जाएगे। राखी पोस्ट करने के लिए डाकघर में भीड़ दिखाई दे रही है। ऐसे में डाकघर प्रशासन ने राखी के लिए एक अलग विशेष काउंटर की व्यवस्था भी की है। वहीं भीड़ बढ़ने पर और अतिरिक्त काउंटर भी बनाए जा सकते है। रविवार को भी डाकिया, डाक के माध्यम से आए राखियों को घर-घर पहुंचाने का काम करेंगे, ताकि भाई रक्षाबंधन के दिन बहनों के रक्षासूत्र को अपने कलाई पर बांध सके। डाकघर अधीक्षक ने समस्त नागरिकों से उक्त सुविधा का लाभ प्राप्त करने की अपील की है।

छात्राओं ने राखी बनाना सीखा

देवास। सरस्वती विद्या मंदिर विजयनगर में रक्षासूत्र और राखी बनाने के लिए कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें रागिनी अग्रवाल, आयुषी सोलंकी, रश्मि पागनीस और वर्षा दुबे ने प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर विभिन्ना प्रकार की सामग्रियों के साथ नई तकनीकि द्वारा रक्षासूत्र और राखी बनाने के विधियां बताई गई। इस कार्यशाला को संस्था प्राचार्य इंदिरा शर्मा एवं प्रमिला शर्मा का मार्गदर्शन भी प्राप्त हुआ।

सैनिक भाइयों को भेजी राखी

देवास। इनरव्हील क्लब अध्यक्ष नीलू सक्सेना ने बताया कि क्लब की ओर से सरहद पर तैनात सैनिक भाईयों के लिए राखी भेजी गई। उन्होंने कहा कि सैनिक सरहद पर ईमानदारी से अपना फर्ज निभा रहे हैं। इसी वजह से हम अपने घरों में हर त्यौहार मना रहे हैं। इसलिए क्लब की बहनों की ओर से तरफ से उन्हें रक्षा सूत्र भेजकर उनकी लम्बी उम्र की कामना की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close