देवास। कृष्णाजीराव पवार शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय देवास में अंतरराष्ट्रीय नशा निवारण दिवस के अवसर पर महाविद्यालय के एनसीसी इकाई ने एनसीसी कैडेट को नशा निवारण के संबंध में शपथ दिलाई गई। मानव श्रृंखला का निर्माण किया गया। इसके माध्यम से यह संदेश दिया गया कि हमारे आसपास के सभी नागरिकों को नशा मुक्ति के लिए जागरूक करेंगे। उन्हें नशा युक्त पदार्थों का सेवन छोड़ने के लिए प्रेरित करेंगे।

प्राचार्य डाक्टर रतनसिंह अनारे ने आयोजन की अध्यक्षता की। एनसीसी अधिकारी लेफ्टिनेंट डाक्टर संजय गाडगे के संयोजन में हुआ। ईको क्लब प्रभारी जितेंद्र सिंह राजपूत ने नशीले पदार्थों के सेवन से होने वाली गंभीर बीमारियों तथा उसके दुष्परिणाम के बारे में बताया। डा. गाडगे ने विद्यार्थियों से कहा कि नशीले पदार्थ जीवन को पूरी तरह से नष्ट कर देते हैं। मानव जीवन हमें मिला है तो हम इसे अच्छे से जिएं। नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करें। साथी हमारे परिवार तथा नागरिकों को भी नशीले पदार्थों का सेवन नहीं करने के लिए प्रेरित करें। पूनम विश्वकर्मा ने संचालन किया। अक्षय धानक ने आभार माना।

पोस्टर और रंगोली से नशा

मुक्ति जागरूकता का संदेश

राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई ने इंटरनेट मीडिया के माध्याम से व्याख्यान के साथ पोस्टर और रंगोली बनाकर नशा मुक्ति जागरूकता का संदेश दिया। इसमें डाक्टर लता धूपकरिया ने कहा कि परिवार का एक व्यक्ति भी अगर नशा करता है तो उसका पूरा परिवार उसके कारण हमेशा दुखी रहता है। इसलिए नशा कभी नहीं करना चाहिए। जो नशा करता है, उसे भी इसके दुष्प्रभाव बता कर जागरूक करना हमारी जिमेदारी है। डा. राजेंद्र कुमार मराठा, डा. मंजू सक्सेना, डा. संजय गाडगे के साथ 30 छात्र-छात्राओं ने सहभागिता की। प्रियंका सूर्यवंशी, प्रेरणा अमलावादिया, मोनिका चौहान, श्रद्धा चौहान, कोमल सोनी, प्रमोद करवरिया ने पोस्टर के माध्यम से जागरूकता का संदेश दिया। नेहा नागर, काजल नागर ने कांकड़दा भौरासा के पास मतदान केंद्र पर रंगोली बनाकर जागरूक किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close