देवास। Dewas News देवास जिले के सोनकच्छ से सात किमी दूर खजुरिया कनका के तालाब में डूबने से 5 बच्चों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि माता की प्रतिमा का विसर्जन के लिए ये बच्चे तालाब में गए थे। लेकिन अधिकारियों का कहना है कि बच्चे तालाब में स्नान करने के लिए गए थे, यह प्रतिमा विसर्जन करने के दौरान हुआ हादसा नहीं है। सभी की उम्र 13 से 14 वर्ष बताई जा रही है, जिसमें से दो सगे भाई है। बताया जा रहा है कि तीन बच्चे अभी भी लापता हैं, जिनकी तलाश के लिए तालाब की तह को खोदा जा रहा है। पुलिस भी मौके पर पहुंच चुकी है। घटना के बाद वहां मौजूद दूसरे बच्चों ने तुरंत इसकी सूचना ग्रामीणों को दी, जिसके बाद ग्रामीण यहां पहुंचे और बच्चों को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। ग्रामीणों ने इस बात की सूचना पुलिस को भी दे दी, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और बच्चों के शवों को अस्पताल ले जाया गया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद कलेक्टर श्रीकांत पाण्डे, एसपी चंद्र शेखर सोलंकी एसडीएम अंकिता जैन शासकीय अस्पताल पहुच गए थे। दशहरे के त्योहार के दिन हुए इस बड़ी दुर्घटना से पूरे गांव में मातम छा गया है।गौरतलब है कि इसके पहले भोपाल गणेश विसर्जन के दौरान तालाब में नाव पलटने से 11 युवकों की मौत हो गई थी। इस बड़ी घटना के बाद इस बार प्रशासन की ओर से माता विसर्जन को लेकर हर जगह कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे।

लेकिन देवास जिले के गांव में फिर ऐसा ही दिल दहला देने वाला हादसा हो गया। बताया जा रहा है कि दूसरे बच्चों की सूचना के बाद के ग्रामीण तालाब में उतरे और एक-एक करके बच्चों की लाश बाहर निकाली। घटना से पूरे गांव में मातम पसर गया है, अचानक दशहरे की खुशी गम में बदल गई। इस बीच देवास जिले के बागली के जटाशंकर क्षेत्र में कुएं में एक14 वर्षीय किशोरी के डूबने की जानकारी सामने आई है।

शाजापुर में डूबे दो युवक

शाजापुर के नाथवाड़ा क्षेत्र के में माता विजर्सन करने गए दो युवक डूब गए। ग्रामीण लागातर युवकों को ढूंढने का प्रयास करते रहे, लेकिन वे नहीं मिले। सूचना मिलने के बाद होमगार्ड की टीम मौके के लिए रवाना हुई।

Posted By: Prashant Pandey

fantasy cricket
fantasy cricket