*विधायक गायत्री राजे पवार ने पूजा अर्चना कर किया शुभारंभ

देवास (नईदुनिया प्रतिनिधि)। 100 किलोग्राम चांदी एकत्रित कर मां चामुंडा मंदिर में रजतीकरण का कार्य किया जाएगा। इसे लेकर पिछले कुछ दिनों से देव स्थान प्रबंध समिति ने तैयारी की जा रही थी। मां चामुंडा शासकीय देव स्थान प्रबंध समिति द्वारा बुधवार से टेकरी पर छोटी माता मां चामुंडा मंदिर में रजतीकरण (चांदीकरण) का कार्य प्रारंभ किया गया। प्रथम चरण में नवरात्रि के पहले मंदिर के अंदर का कार्य पूरा किया जाएगा। जिलेवासियों से रजतीकरण कार्य में सहयोग की अपील भी की गई है।

मां चामुंडा शासकीय देव स्थान प्रबंध समिति द्वारा माता टेकरी के विकास को लेकर लगातार काम किया जा रहा है। इससे पहले बड़ी माता मां तुलजा भवानी मंदिर में चांदी से रजतीकरण किया गया था। तब 125 किलोग्राम चांदी से मां तुलजा भवानी माता मंदिर का कार्य किया गया था। इसी भांति लगभग 100 किलोग्राम चांदी एकत्रित कर मां चामुंडा मंदिर में रजतीकरण का कार्य होगा। प्रथम चरण में आने वाली नवरात्रि के पहले मंदिर के अंदर का कार्य पूर्ण किया जाएगा। मां तुलजा भवानी मंदिर में पिल्लर 40 किलोग्राम पीतल से संवारे जाएंगे। दरअसल, बड़ी माता मंदिर में रजतीकरण के लिए पिछले साल कवायद शुरू हुई थी। इसके लिए लोगों से दान में चांदी ली गई थी और इसी के माध्यम से मंदिर का रजतीकरण किया गया। श्रद्धालुओं ने भी माता के मंदिर के लिए दिल खोल कर चांदी दान की थी।

बड़ी संख्या में दर्शन करने आते हैं भक्त

माता टेकरी पर दूर-दूर से बड़ी संख्या में भक्त दर्शन के लिए आते हैं। कोरोना के कारण पिछले साल दर्शन व्यवस्था बंद कर दी गई थी। माता टेकरी की ख्याति दूर दूर तक है। भक्तों की माता टेकरी स्थिति मां चामुंडा और तुलजा भवानी में अपार श्रद्धा है। चांदी के साथ साथ ई दान की भी व्यवस्था टेकरी पर की गई है। ई दान के लिए टेकरी पर कई स्थानों पर क्यूआर कोड भी लगाए गए है। पिछले नवरात्र से ई दान की व्यवस्था को लागू किया गया था। प्रतिमाह लाखों रुपये ई दान के माध्यम से समिति को प्राप्त होते है।

कोरोना के तहत नियमों के पालन के निर्देश

माता टेकरी पर प्रतिदिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है, ऐसे में कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए यहां नियमों के पालन को लेकर निर्देश अफसरों की तरफ से दिए गए है। लगातार श्रद्धालुओं से अपील की जाती है कि वे कोरोना गाइडलाइन का पालन करें, हालांकि इसके बावजूद लोगों में लापरवाही देखने को मिलती है।

100 किलो चांदी से छोटी माता मंदिर में रजतीकरण का काम होगा। कार्य की शुरुआत बुधवार से हो गई। चांदी एकत्रित कर रजतीकरण का कार्य किया जाएगा। बड़ी माता मंदिर में रजतीकरण का कार्य किया जा चुका है।

- प्रदीप सोनी, एसडीएम व सचिव प्रबंध समिति

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local