देवास(नईदुनिया प्रतिनिधि)। गुरुवार को जिले में 18 प्लस के युवाओं का टीकाकरण का दूसरा दिन रहा। पहले दिन भी युवाओं ने बढ़ चढ़कर टीकाकरण में हिस्सा लिया और 95 प्रतिशत युवाओं ने टीका लगवाया। वहीं दूसरे दिन भी युवाओं ने उत्साह से टीका लगवाया। वहीं सीमित संख्या में टीकाकरण होने से युवाओं में मायूसी और निराशा है। कई संस्थाओं ने भी युवाओं के टीकाकरण की संख्या बढ़ाने की मांग की है। युवाओं का कहना है कि वे लंबे समय से जिंदगी के टीके का इंतजार कर रहे थे। इस तरह से धीमी शुरुआत होने से उन्हें निराशा है। पता नहीं उनका नंबर कब आएगा। केंद्र और संख्या बढ़ने से जल्द युवा भी टीका लगवा सके और खुद को सुरक्षित करें।

-मैंने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है, लेकिन अभी टीकाकरण को लेकर समय नहीं मिला है। जनवरी से ही टीकाकरण को लेकर उत्साह था। मई में टीकाकरण की सूचना से उम्मीद थी कि जल्दी हमें भी टीका लगेगा, लेकिन सीमित संख्या में टीका लग रहा है, इससे पता नहीं हमारा नंबर कब आएगा। टीकाकरण के संख्या बढ़ना चाहिए। जिससे कि हम भी जल्द से जिंदगी का टीका लगवा सकें। क्योंकि वर्तमान में जिले में संक्रमण तेजी से बढ़ा है। हर व्यक्ति को सुरक्षित करना जरूरी है। टीका जिंदगी का सुरक्षा कवच है।

- आयोन चक्रबर्ती, युवा

-युवा ज्यादा है रिस्क पर होते हैं इसलिए उन्हें जल्द से जल्द टीका लगना चाहिए। युवा काम के सिलसिले और अन्य कार्यों के चलते बाहर जाते हैं। उनके संक्रमण का खतरा भी ज्यादा रहता है इसलिए उनका टीकाकरण होना चाहिए, लेकिन सीमित संख्या से देर होगी। देरी होने से उनके संक्रमित होने का खतरा बढ़ेगा। इसलिए बड़ी संख्या में टीकाकरण हो। ताकि सभी युवा जल्द ही सुरक्षित हो जाए।

- आकाश मंडल, युवा

- 5 मई से युवाओं का टीकाकरण होना था और हमने इसके लिए पहले से ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा भी लिया था, लेकिन हमें तारीख नहीं मिली है। अब पता नहीं कब हमें तारीख मिलेगी। हमारे कुछ साथियों ने भी टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन करा लिया है। हम सभी टीकाकरण के इंतजार में है, लेकिन जिस तरह से 10 दिन का शेड्यूल सामने आया है। उससे लग रहा है कि इस माह नंबर आना मुश्किल है। टीकाकरण की संख्या बढ़े। ताकि सभी लोग जल्दी से टीका लगवा सके।

- रश्मि कलम, युवा

-अब युवा भी संक्रमित होने लगे हैं। जिले में 20 से 40 वर्ष के लोगों ज्यादा संक्रमित हुए हैं। युवा भी कोरोना से जंग हार रहे हैं। इसलिए उन्हें भी टीके सख्त जरूरत है। क्योंकि अगर वे संक्रमित भी हो तो कोरोना से लड़कर जंग जीत सके। युवाओं के टीकाकरण में तेजी आना चाहिए। जिससे कि सभी युवा टीकाकरण करवा सके।

- सुयश खरे, युवा

-युवा की टीकाकरण की संख्या काफी कम है, क्योंकि जिले में करीब 7 लाख से ज्यादा युवाओं को टीका लगाने का प्लान है। इसलिए रोजाना सत्र बढ़ाने के साथ ही टीकाकरण की संख्या भी बढ़ाई जानी चाहिए। सेंटर ज्यादा बढ़ेंगे तो लोगों को ज्यादा से ज्यादा टीका लग सकेगा। उनके सुरक्षित होने से उनका परिवार भी सुरक्षित होगा।

- कुणाल कुरले, युवा

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags