देवास। मध्यप्रदेश ग्राम रक्षक कोटवार चौकीदार संघ के बैनर तले जिलेभर के कोटवार बुधवार को मंडूक पुष्कर स्थित धरना स्थल पर एकत्रित हुए।

कोटवारों ने नारेबाजी करते हुए धरना दिया और ज्ञापन सौंपा। जिला अध्यक्ष देवनारायण सोलंकी ने हड़ताल के प्रथम दिवस धरना देते हुए कलेक्टर कार्यालय में मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव एवं प्रमुख राजस्व आयुक्त के नाम ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में बताया कि काफी समय से कोटवार अपनी विभिन्ना मांगों को लेकर संघर्ष करते आ रहे हैं, लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा अब तक मांग पूरी नहीं की गई। एक मार्च को भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में लगभग 10 हजार कोटवारों की मौजूदगी में सहकारिता मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया ने आश्वासन दिया था कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अति संवेदनशील है। उनसे मिलकर आपकी मांगों का निराकरण शीघ्र करवा लूंगा। 2 माह बीतने को है, लेकिन मांगों का निराकरण नहीं हो पाया है। हड़ताल के दौरान जिला सचिव संतोष शर्मा, अंबाराम मालवीय, तहसील अध्यक्ष विजय सिंह देवड़ा, रवि कचनारिया, लक्ष्‌मणसिंह, ओम प्रकाश, मेहरबान, कैलाश, रामेश्वर, दुर्गा प्रसाद, शंकरलाल, सज्जन सिंह, महेश, जगदीश चंद्र, इंदरसिंह, मदन पवार, सुरेश सहित बड़ी संख्या में कोटवार उपस्थित थे।

-ये हैं मुख्य मांगें

ज्ञापन में बताया कि कोटवारों की मुख्य मांगे है कि मध्यप्रदेश के सभी सेवा भूमि रहित कोटवारों को कलेक्ट्रेट पर मानदेय देने के लिए आदेश जारी किए जाए। सेवाभूमि धारी कोटवारों को सेवा भूमिका मालिकाना हक देने आदेश जारी करें। मध्यप्रदेश कोटवार संगठन ने निर्णय लिया है कि 5 दिनों तक हमारी हड़ताल चलेगी। यदि इसके बाद भी मांगे पूरी नहीं होती है तो 2 जून से सभी कोटवार अपनी मांगों को लेकर भोपाल में कोटवार अधिकार यात्रा निकालेंगे। जिस का समापन मुख्यमंत्री निवास पर होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close