देवास। नेमावर पुलिस सूचना पर मादक पदार्थ तस्कर को पड़कने गई थी। इसको लेकर पुलिस जाल बिछाया और वाहनों की चेकिंग का अभियान शुरू किया। इस दौरान एक कार की चेकिंग के दौरान उसमें बैठे एक व्यक्ति की गोद में रखा झोला खोलकर देखा तो पुलिसकर्मी भी चौंक गए, साधारण से झोले में नगद 43 लाख रुपये मिले।

मंगलवार को नेमावर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक सफेद रंग की कार से मादक पदार्थ की तस्करी की जा रही थी। थाना प्रभारी आर वास्कले ने टीम के साथ नेमावर पुल तैनात हुए। वाहनों की चेकिंग शुरू की गई। करीब दो बजे एक सफेद को रोकने का प्रयास किया, लेकिन कार नहीं रूकी। कुछ दूरी पर आगे जाकर कार मुड गई। जिस पुलिस की टीम ने पीछा कर कार को रोका। कार में दो लोग सवार थे। चेकिंग के दौरान एक झोले में 43 लाख रुपये रखे थे। दोनों कार सवार व्यक्ति ठीक से जवाब नहीं दे पाए। इसके बाद पुलिस कार को नेमावर थाने लेकर पहुंची।

कार में सवार दोनों लोगों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने पंचनामा बनाकर आयकर विभाग इंदौर सहित वरिष्ठ अधिकारियों को मामले की जानकारी दी। रात करीब 8 बजे इंदौर से आयकर विभाग की टीम नेमावर थाने पहुंची। टीम ने सुबह करीब 9 बजे तक जांच कर दोनों लोगों को पूछताछ की। कार में एक ड्राइवर और दूसरा मुनीम रामचंद्र गुर्जर था। मुनीम गुर्जर ने बताया कि हमारी फर्म किसानों से बीज खरीदती है। किसानों को पैसे देने के लिए यह राशि लाए थे। मुनीम ने हरदा में व्यापारी की फर्म होने की बात कही है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close