MP News: नईदुनिया ने खिवनी अभयारण्य के अधीक्षक को सूचना दी तब वन अमला हरकत में आया

कुसमानिया। वन्य प्राणी खिवनी अभयारण्य से लगे किसानों के खेत में कभी-कभी वन्य जीव आ जाते हैं, जिससे उनकी जान का खतरा बढ़ जाता है। किसान के खेत में बने कुएं में सियार के गिरने का मामला सामने आया है। खिवनी अभयारण्य से लगे ककड़दी गांव के किसान गेंदालाल परमार के कुएं में एक सियार जा गिरा। कुएं में पानी कम होने के कारण सूखी जगह में 8 दिन बैठा रहा। किसान ने रोटियां खिलाकर उसकी जान बचाई।

किसान के बेटे रोहन परमार ने बताया कि आठ दिन पहले हमारे कुएं में एक सियार गिर गया था। मेरे पापा ने देखा और स्थानीय वनरक्षक राजकुमार मालवीय को जानकारी दी। वनरक्षक ने सियार को निकालने के लिए दो-तीन दिन तक प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली। हम रोजाना सियार को रोटी दे रहे थे ताकि वह कुएं के भीतर भूखा न रहे। एक सप्ताह तक सियार के बाहर न निकलने की स्थिति में की सूचना नईदुनिया प्रतिनिधि को दी गई। नईदुनिया प्रतिनिधि ने खिवनी अभयारण्य अधीक्षक को मामले से अवगत कराया। इसके बाद वन अमला हरकत में आया और सियार को सुरक्षित बाहर निकाला।

उल्लेखनीय है कि सियार करीब एक सप्ताह से कुएं के अंदर था और वन विभाग को सूचना होने के बाद भी सियार को बाहर नहीं निकाला और न ही वनरक्षक ने वरिष्ठ अधिकारियों को इस मामले में अवगत कराया। यदि किसान सियार को रोजाना रोटी नहीं खिलाते तो वह जीवित नहीं रहता। इस संबंध में खिवनी अभयारण्य के अधीक्षक राजेश मंडावलिया का कहना है कि आप के माध्यम से मुझे जानकारी मिली तो मामले को संज्ञान में लेकर तत्काल सियार को बाहर निकालने के लिए निर्देशित किया। वन अमले ने रेस्क्यू कर सियार को सुरक्षित बाहर निकाला। बाहर निकलते ही सियार जंगल की ओर भाग गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close