*1000 एकड़ से ज्यादा में रोपे बांस देवास जिले में

*448 किसानों ने 541 हेक्टेयर पर लगाए हैं बांस के पौधे

*2 लाख 16 हजार 281 बांस के पौधे लगाए गए हैं जिले में

*325 हेक्टेयर भूमि पर 2 लाख 03 हजार 125 बांस के पौधे लगाए गए हैं मनरेगा योजना में

*595 हेक्टेयर भूमि पर 2 लाख 38 हजार बांस रोपे गए केंपा योजना में

*6.5 लाख से ज्यादा बांस के पौधे रोपे गए हैं जिले में

देवास (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में सवा हजार एकड़ से अधिक क्षेत्र में बांस का रोपण किया गया है। अब तक जिले में 448 किसानों ने 541 हेक्टेयर पर 2 लाख 16 हजार 281 बांस लगाए हैं। किसानों की आय को दुगना करने एवं लघु उघोगों को बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला के मार्गदर्शन में देवास जिले वन मंडल क्षेत्रीय देवास अंतर्गत निजी, कृषि क्षेत्र एवं वन क्षेत्रों मे बास के रोपण के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। 'एक जिला एक उत्पाद' के अंतर्गत देवास जिले में कृषकों को प्रेरित कर एक हजार एकड़ से अधिक क्षेत्र में कंटग बांस का रोपण किया गया है। मनरेगा से वन क्षेत्रों में बांस रोपण कर 46 महिला स्व-सहायता समूहों को रोजगार उपलब्ध कराया गया है।

541 हेक्टेयर भूमि पर रोपण

राज्य बांस मिशन ने बांस के एक पौधे पर खरीदी से लेकर उसे लगाने एवं बड़े होने तक सुरक्षा सहित कुल 240 रुपये की लागत का अनुमान लगाया है। किसान द्वारा अपने निजी भूमि पर बांस रोपण करने पर कुल लागत की 50 प्रतिशत राशि यानी की 120 रुपये प्रति पौधा किसानों को अनुदान (सब्सिडी) के रूप में दिया जाएगा। विकासखंड देवास, सोनकच्छ, टोंकखुर्द, बागली, कन्नाौद और खातेगांव के 448 किसानों ने 541 हेक्टेयर भूमि पर 2 लाख 16 हजार 281 बांस का रोपण किया है।

---

स्व सहायता समूह के लिए योजना

वन क्षेत्र में स्व सहायता समूह की मदद से मनरेगा योजना अंतर्गत बांस रोपण कराया गया है। पांच वर्षों के लिए बनाई जाने वाली योजना में पौधारोपण एवं उसकी सुरक्षा पर होने वाला समस्त व्यय मनरेगा योजना के अंतर्गत वहन किया जाएगा। पांच वर्ष बाद बांस के विदोहन से होने वाली आय को उस क्षेत्र की ग्राम वन समिति एवं संबंधित स्व सहायता समूह के मध्य साझा की जाएगी। साथ ही बांस को बेचने लिए स्व सहायता समूह एवं देवास स्थित आर्टिसन एग्रोटेक लिमिटेड बांस फैक्ट्री के मध्य अनुबंध कराया गया है।

---

इन प्रकार से भी बांस रोपे गए

01-मनरेगा योजना में 19 स्थानों पर 325 हेक्टेयर भूमि पर 2 लाख 03 हजार 125 बांस रोपे गए हैं।

02-कैंपा योजना में 22 स्थानों पर 595 हेक्टेयर भूमि पर 2 लाख 38 हजार बांस रोपे गए हैं।

---

निजी भूमि में बांस रोपण की स्थिति

परिक्षेत्र का नाम किसानों की संख्या लगाए गए बांस की संख्या

देवास 116 47400

पानीगांव 22 5700

कन्नाौद 35 10500

खातेगांव 50 64000

सतवास 30 7500

कांटाफोड़ 35 34000

बागली 20 1000

जिनवानी 29 13530

पुंजापुरा 69 12651

उदयनगर 42 20000

कुल योग 448 216281

---

वन मंडल देवास को वर्ष 2023-24 में संपूर्ण जिले में विभिन्ना योजनाओं के तहत शासन से अधिक से अधिक बांस रोपण का लक्ष्‌य प्राप्त कर उसकी तैयारी प्रारंभ कर दी है। हमारा लक्ष्‌य अधिक से अधिक किसानों को जागरूक करते हुए शासन की योजना को हर किसान तक पहुंचाना है। कलेक्टर चंद्रमौली के मार्गदर्शन में जिले में बांस रोपण हो रहा है।

-पीएन मिश्रा, वन संरक्षक देवास

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close