देवास(नईदुनिया प्रतिनिधि)। अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के सप्त सूत्रीय आंदोलनों में से एक आंदोलन पावन वृक्षगंगा अभियान है। इसके अंतर्गत पर्यावरण संरक्षण के लिए शंकरगढ़ की पहाड़ी पर पूरी उमंग एवं उत्साह के साथ गायत्री परिवार ने गायत्री प्रज्ञापीठ विजय नगर की संरक्षिका के सानिध्य में वैदिक गायत्री महामंत्र के उच्चारण के साथ 51 पौधों का रोपण किया।

गायत्री शक्तिपीठ के मीडिया प्रभारी विक्रमसिंह चौधरी ने बताया कि गायत्री परिवार के महेश आचार्य एवं ओमप्रकाश श्रीवास्तव के नेतृत्व में शंकरगढ़ की पहाड़ी पर पहुंचकर पौधारोपण किया गया। सदस्यों ने उचित स्थान चयन कर पूर्ण उत्साह के साथ स्वयं गड्ढे खोदकर 51 पौधों का रोपण किया। व्यवस्थित क्यारियां बनाकर पौधों को पानी भी दिया गया। प्रज्ञापीठ संरक्षिका एवं गायत्री प्रज्ञापीठ विजयनगर के मुख्य प्रबंध ट्रस्टी राजेंद्र पोरवाल आयोजन में सम्मिलित होकर सभी स्वजनों का उत्साहवर्धन किया। मजन को अपने पूर्वजों की स्मृति मे पौधे लगाने का आग्रह किया। साथ ही कहा कि जिस व्यक्ति ने अपने जीवन काल में एक भी पौधा नहीं लगाया हो उसे अपने अंतिम संस्कार में लकड़ी के उपयोग का नैतिक अधिकार नहीं है। गायत्री परिवार जिला समन्वयक रमेशचंद्र मोदी एवं युवा समन्वयक प्रमोद निहाले ने वृक्ष गंगा अभियान के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि शंकरगढ़ की पहाड़ी पर विशेष चयनित पौधों का रोपण किया गया। जिसमें अधिक आक्सीजन देने वाले पौधे एवं फलदार पौधे लगाए गए। इस वर्ष की वर्षा ऋतु में गायत्री परिवार का यह तीसरा आयोजन है। यह अभियान निरंतर रक्षा बंधन पर्व तक पूर्ण उत्साह एवं उमंग के साथ चलाया जाएगा।

-हर व्यक्ति को तीन पौधे लगाना चाहिए

जिला समन्वयक मोदी एवं निहाले ने बताया कि एक व्यक्ति को अपने मानव जीवन काल में जितनी ऑक्सीजन की आवश्यकता पड़ती है उसे तीन पौधे मिलकर तैयार करते हैं। इसलिए तीन पौधे हर व्यक्ति को लगाना चाहिए। आज पर्यावरण बहुत प्रदूषित हो गया हैं, इसके संरक्षण के लिए पौधे लगाना आज की अनिवार्य आवश्यकता हैं। हमारा नैतिक धर्म भी हैं। गायत्री शक्तिपीठ के मुख्य प्रबंध ट्रस्टी महेश पण्डया ने आमजन से अपील की है कि इस मौसम में अधिक से अधिक पौधे लगाए, ताकि हमारा पर्यावरण पूर्ण रूप से सुरक्षित और संरक्षित रह सके। शंकरगढ़ की पहाड़ी पर वृक्षारोपण अभियान में गायत्री परिवार के शेषनारायण परमार, हजारीलाल चौहान, प्रहलादसिंह सोलंकी, दिलीपसिंह सोलंकी, नीति श्रीवास्तव, मनीष महाजन, मीना अग्रवाल, अमित जायसवाल, ज्ञानदेव बोडखे, केशव पटेल, दिनेश बर्डे, लक्ष्‌मण पटेल, धर्मेंद्र पंवार आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close