Road Safety Campaign Dewas: देवास। टोल चुकाने के बाद भी यदि आपको गड्ढों और खराब अलाइनमेंट की सड़क का अहसास हो रहा है, तो समझ जाइए कि ये इंदौर-देवास रोड है। यहां बारिश के दौरान डामर रोड के बीच बने बड़े-बड़े गड्ढों को भरने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) ने नायाब तरीका निकाला और सीमेंट के पेवर ब्लाक लगा दिए। पेवर ब्लाक लगाने से गड्ढे तो भर गए लेकिन सड़क ऊबड़-खाबड़ हो गई। जहां पैचवर्क किया गया, वह भी इतना बेतरतीब है कि अच्छी से अच्छी कारों को भी झटकों का अहसास होता है।

आगरा-मुंबई रोड का देवास से इंदौर के बीच का हिस्सा वर्षों से सिक्स लेन है और प्रतिदिन बड़ी संख्या में वाहन इस रोड से गुजरते हैं। लाखों रुपये रोजाना की टोल वसूली के बाद भी सड़क के बदतर हालात हैं। लोगों ने इसके लिए प्राधिकरण से लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी तक शिकायतें और ट्वीट भी किए, लेकिन हालत सुधर नहीं रहे हैं। इंदौर से देवास और देवास से इंदौर दोनों ही ओर की सड़क पर बड़े गड्ढों को सीमेंट के पेवर ब्लाक से बेतरतीब तरीके से भर दिया गया है। वाहन चालक इन ब्लाक से बचने के लिए गाड़ियों को लहराते हैं। इसके कारण दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

फ्लाईओवर ब्रिज के नीचे सड़कें बदहाल

इस रोड पर देवास से इंदौर के बीच टोल आने के पहले 7 फ्लाई ओवर ब्रिज बने हैं। कमोबेश सभी ब्रिज के सर्विस रोड की हालत बेहद खराब है। इन सड़कों को सुधारने के लिए कोई प्रयास नजर नहीं आ रहे हैं। ग्रामीण इन सड़कों के घटिया रखरखाव से परेशान हैं। क्षिप्रा में देवास जिला और इंदौर जिला दोनों ही तरफ सड़क की हालत खराब है। इसके अलावा डकाच्या क्षेत्र में भी गड्ढों को भरने में पैचवर्क ठीक से नहीं किया गया है। इस संबंध में राष्ट्रीय राजमार्ग अथारिटी के अधिकारियों से संपर्क नहीं हो पाया।

इंदौर-बैतूल राष्ट्रीय राजमार्ग की हालत भी खराब

भमौरी। इंदौर-बैतूल राष्ट्रीय राजमार्ग की हालत भी बेहद खराब हो रही है। भमौरी बस स्टैंड पर करीबन 100 मीटर का मार्ग पर डामर गायब हो चुका है। पूरा रोड उखड़ गया है और दिन भर धूल उड़ती रहती है। इस मार्ग से मध्य प्रदेश शासन के मंत्री और कई अधिकारी गुजरते हैं, लेकिन किसी का ध्यान इस तरफ नहीं है। भमोरी बस स्टैंड क्षेत्र के रहवासी काफी परेशान हैं और धूल की वजह से बीमार भी होने लगे हैं। रहवासी दीपक राजपूत, रमेश जायसवाल, रवि गोयल, बंसी टेलर, सुरेश जयसवाल, ताराचंद पाटीदार आदि ने प्रशासन से मांग की है कि जल्द डामरीकरण किया जाए, अन्यथा रहवासी आंदोलन करेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close