Road Safety Campaign Dewas: देवास/बागली/बहरी। सड़क सुरक्षा अभियान के दूसरे चरण के तहत एक ओर शहर सहित जिले के अलग अलग हिस्सों में संचालित शैक्षणिक संस्थाओं जागरूकता शिविर लगाए जा रहे हैं, वहीं जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता व प्रशासनिक अधिकारी अपने-अपने स्तर पर सड़क सुुरक्षा नियमों के पालन को लेकर आम लोगों से लगातार अपील कर रहे हैं। इसी के तहत अंचल के स्कूलों में बुधवार को शिविर लगा।

आदिवासी बहुल ग्रामीण अंचल में संचालित माध्यमिक विद्यालय एवं हाई स्कूल के संयुक्त अभियान में यातायात सप्ताह के तहत अध्ययनरत छात्र छात्राओं को विपरीत परिस्थिति में वाहन चलाने की जानकारी दी गई। कार्यक्रम में संस्था प्रभारी परसराम पिंडोरिया ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में नियम से वाहन चलाने पर भी नुकसान हो जाता है। कारण स्पष्ट है कि सभी लोग नियम का पालन नहीं करते। इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों एवं छोटी सड़कों पर विशेषकर पगडंडी सड़कों पर वाहन चलाते समय सतर्कता रखना बेहद जरूरी है और सतर्कता ही सुरक्षा का साधन है।

विशेष अतिथि के रूप में बागली मुक्ति धाम समिति के सदस्य राजेश तवर ने कहा कि बच्चे ही आजकल बड़ों को आधुनिकता और नए नियम की जानकारी प्रदान करते हैं। छोटे बच्चे अपने माता-पिता एवं बड़े स्वजन को वाहनों के दस्तावेज एवं उसकी मरम्मत के लिए बार-बार कहते रहें। वाहन उचित रहेगा तो सफर भी उचित रहेगा।

सावधानी सबसे ज्यादा जरूरी

कार्यक्रम का संचालन करते हुए वरिष्ठ शिक्षक ओम यादव ने कहा कि आज भी ग्रामीण क्षेत्रों में बैलगाड़ी चलाने का प्रचलन है लेकिन उसे नियंत्रित करने का हुनर किसान के बेटे अच्छी तरह जानते हैं जो शिक्षा में भले ही कमजोर हो लेकिन उसको नियंत्रित करने का हुनर उन्हें याद है। इस गरिमामई कार्यक्रम में सीताराम राठौर, गुलाब सिंह वास्केल, देवकरण चौहान, ललिता पाटीदार, अनीता शुक्ला द्वारा भी अपने विचार व्यक्त किए गए। कार्यक्रम के अंत में क्षेत्र के सरपंच तेज सिंह ओसारी ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए खुशी जाहिर की साथ ही बताया कि नईदुनिया का यह प्रयास निश्चित रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में भी यातायात नियमों की जानकारी पहुंचाने में सफल साबित होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close