देवास(नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर में रिंगरोड पर गड्ढे से गिरने के बाद छात्रा की मौत हो गई। मौत का कारण स़ड़क का गड्ढा बना है। देवास शहर में भी गड्ढों की तस्वीर इंदौर से अलग नहीं है। लगातार बारिश के बाद सड़कें खस्ताहाल होकर गड्ढों से भरती जा रही हैं। कई स्थानों पर 10 फीट चौड़े गड्ढे हैं। एबी रोड पर गड्ढे परेशानी का सबब बन गए हैं। अगर समय रहते जिम्मेदार जागे नहीं और मरम्मत पर ध्यान नहीं दिया तो यहां भी जानलेवा हादसे हो सकते हैं।

उज्जैन रोड ब्रिज पर गड्ढों से बच-बचकर निकल रहे बाइक चालक

करीब दस फीट के हिस्से में आधा दर्जन से ज्यादा छोटे बड़े गड्ढे हैं...बड़े गड्ढे में पानी भरा है। बाइक चालक बच- बच कर निकले रहे हैं। कार का पहिया अगर गड्ढे से उᆬपर से गुजरता तो अंदर बैठे लोगों को झटका लगता। वे हिचकोले खाने लगते हैं। बारिश में ये गड्ढे नजर नहीं आते हैं। इन गड्ढों का दर्द झेलने के बाद शहर में एंट्री करने के लिए कुछ कदम ही आगे ब्रिज की तरफ बढ़ेंगे तो गड्ढे आपकी आफत ज्यादा बढ़ा देंगे, क्योंकि यहां आपका स्वागत ही गड्ढों से होता है। शुरुआत में करीब आधा दर्जन गड्ढे तो आपको ब्रेक लगाने पर मजबूर देंगे। अगर ब्रेक नहीं लगाएंगे तो आपकी बाइक का संतुलन बिगड़ सकता है और चोटिल हो सकते हैं।

लाल गेट और इंदिरा गांधी चौराहे पर भी गड्ढों की भरमार

लगातार बारिश के बाद शहर की प्रमुख सड़कें छलनी और खस्ताहाल हो चुकी हैं। कई स्थानों पर सड़कें गड्ढों की वजह से जान लेने की स्थिति में पहुंच चुकी हैं। इटावा से लेकर उज्जैन ब्रिज तक कई स्थानों पर गड्ढे हैं। इसका दर्द लोग रोजाना झेल रहे हैं। वहीं लाल गेट के सामने करीब 10 फीट चौड़े गड्ढे हैं। इंदिरा गांधी चौराहे पर भी गड्ढों की भरमार हैं। सिविल लाइन क्षेत्र में जाने वाले रास्ते पर छोटे-बड़े गड्ढों से वाहन चालक परेशान हैं। सड़क से छोटी-छोटी गिट्टी उड़कर बिखरी प़ड़ी है। इससे वाहन फिसलने के अंदेशा रहता है।

-गड्ढे से संतुलन बिगड़ा, शुक्र है कार वाले ने ब्रेक लगा दिया

मैं इटावा से शहर की ओर जा रहा था। इटावा चौकी से थोड़ा आगे मेरा स्कूटर गड्ढे की वजह से असंतुलित हो गया। इससे मैं गिर गया। पीछे कार थी। उसने ब्रेक लगा दिया। नहीं तो कुछ भी हो सकता था। मेरी किस्मत अच्छी है कि मैं स्पीड में नहीं था और पीछे वाली कार भी धीरे थी। ज्यादा स्पीड होती तो कुछ भी हो सकता था। गड्ढों को लेकर जिम्मेदारों को ध्यान देना चाहिए। इटावा रोड की भी हालत खस्ता है।

-जैसा यशराज गुर्जर ने बताया

गड्ढों की मरम्मत को लेकर प्लानिंग की है, लेकिन लगातार बारिश से कार्य नहीं हो पा रहा है। जैसे ही बारिश थमेगी। गड्ढों को ठीक किया जाएगा।

-विशालसिंह चौहान, कमिश्नर, नगर निगम देवास

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local