सोनकच्छ। जीवन मे नम्रता होनी चाहिए, अगर ज्ञान न भी हो पर पुण्योदय से तुम्हारी प्रतिष्ठा बढ़ जाए। सम्मन बढ़ जाए, जय जयकार होने लगे। वाहवाही गूंजे तो अंतरंग की पवित्रता को मत खो देना। आज बाहरी रंग अलग और भीतरी रंग अलग है। इसलिए आज इस यज्ञ में अपने अहंकार की आहुति भी दे देना, जीवन सार्थक हो जाएगा।

यह बात पुष्पगिरी तीर्थ प्रेणता गणाचार्य पुष्पदंत सागर महाराज ने तीर्थ के भगवान मुनिसुब्रतनाथ जिनालय में चल रहे संगीतमय नौ दिवसीय जिनेंद्र अर्चना महोउत्सव के समापन अवसर पर कही। उन्होंने यह बात अपने शिष्य मुनि सौरभ सागर, क्षुल्लक पर्व सागर महाराज के साथ उपस्थित भक्तों से कही। मुनि सौरभ सागर ने कहा कि भगवान की भक्ति जीवन का सुखद रस है। जितना ले सकते हो ले लो। अपना जीवन पानी सा निर्मल बना लो, जो भक्ति के हर रंग में रंग सके। यह प्रभु भक्ति आप के जीवन की शक्ति बने यही कामना है। प्रवक्ता रोमिल जैन ने बताया सुबह भगवान के कलशाभिषेक, शांतिधारा के बाद नवरात्र पर्व के दौरान तीर्थ पर मुख्य पात्रों द्वारा नौ दिवसीय जिनेंद्र अर्चना महोउत्सव में अलग अलग मंडलविधान की पूजा की गई। उत्सव के समापन अवसर पर गणाचार्य द्वारा एक विशेष हवन अनुष्ठान किया गया। विगत नौ दिनों में गणाचार्य द्वारा भगताम्मर,मंशापूर्ण महावीर, स्वयंभू, कल्याण मंदिर, सम्मेदशिखर, मां जिनवाणी, चौसठ रिद्धि, आचार्यपरमेष्ठी व नवग्रह विधान मंडल की आराधना कराई गई। मणिपुर,अंबाला, मुंबई, जयपुर, दिल्ली, मेरठ, मुजफरनगर, कानपुर, देहरादून,औरंगाबाद, छिंदवाड़ा, रायपुर सहित आसपास के कई भक्तगण शामिल हुए।

90 वर्षीय बुजुर्ग ने लगवाया टीका

क्षिप्रा। अंचल में लगातार वैक्सीनेशन का दौर चल रहा हैं। जिसके तहत उपस्वास्थ्य केंद्र क्षिप्रा में लोगों को कोविशिल्ड और कोवैक्सीन की पहली व दूसरी डोज लगाई जा रही है। स्वस्थ्यकर्मी नीलिमा परमार ने बताया कि शनिवार को भी टीकाकरण किया गया। क्षिप्रा की 90 वर्ष की वृद्धा बसंताबाई जोशी समेत 120 लोगों ने वैक्सीन लगवाई। वहीं वेरिफिकेशन कार्य इकबाल मोदी, संजू जेठवा ने किया। इस अवसर पर आशा कार्यकर्ता नीलम बंसल, रचना राठौड़, सुशीला मालवीय ,मंजू पांचाल, रेखा चौहान का सहयोग रहा।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने निकाला पथ संचलन

क्षिप्रा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा शनिवार को भव्य पथ संचलन निकाला गया। आयोजन सुखल्या स्तिथ धर्मशाला में शस्त्र पूजन के साथ सुबह 11 बजे किया गया। इसके बाद स्वयंसेवकों ने क्षेत्र के विभिन्ना मुख्य पथ से गुजरते हुए पथ संचलन किया। इस अवसर पर मार्ग में कई जगहों पर स्वयंसेवकों का फूलों की वर्षा के साथ स्वागत किया गया। पथ संचलन में आगे-आगे घोष का वादन हो रहा था कि अर्पित कर दो तन - मन - धन, मांग रहा बलिदान वतन। वहीं स्वयंसेवक भारत माता की जय व वंदे मातरम का जयघोष कर रहे थे।

रिमझिम फुहारों के बीच धूमधाम से मां को दी विदाई

पीपलरावां। नवदुर्गा उत्सव का दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के साथ समापन हो गया। शुक्रवार को मालीपुरा, श्रीकृष्ण मंदिर, छोटे हनुमान मंदिर एवं कंजर डेरा की प्रतिमा का विसर्जन किया गया। वहीं शनिवार की इतवारिया चौक में मां वैष्णोदेवी मित्र मंडल के तत्वावधान में मनाये जा रहे दुर्गा उत्सव का समापन हुआ। प्रतिमा का विसर्जन जुलूस धूमधाम से निकला गया। दोपहर दो बजे इतवारिया बाजार से बैंडबाजे के साथ जुलूस प्रारंभ हुआ। रास्ते में युवा ढोल की थाप पर जमकर थिरके। जुलूस श्रीराम मार्केट व बस स्टैंड होते हुए रिमझिम बारिश की फुहार में शाम पांच बजे नर्मदीया तालाब पहुंचा। जहां पुजारी पंडित धर्मेंद्र मेहता द्वारा पूजन व आरती की गई। इसके बाद विदाई गरबा कर मां को विदाई दी गई। अंत मे साबूदाना खिचड़ी का वितरण हुआ।

इस अवसर पर सोनू भावसार, विजय कुमरावत,प्रशांत नाहर,हिमांशु खत्री,शरद भावसार, शुभम वैरागी, विजय चावड़ा, शुभम पटवा, योगेश विश्वकर्मा सहित युवा मौजूद थे।

पंचकोशी यात्र शुरू हुई, ध्वज लेकर पद यात्री

पीपरी। सीतामाता, जयंति माता धाराजी नर्मदा पंचकोशी पदयात्रा शनिवार से सुबह स्थानीय पिपलेश्वर महादेव मंदिर से ध्वज वंदन व महाआरती और भजन कीर्तन के साथ शुरू हुई। ध्वज पूजन स्थानीय वसूली पटेल लीलाधर डावर, नर्मदा भक्त गिरधर गुप्ता आदि ने भी किया। यात्रा में प्रमुख रुप से ध्वज लेकर चल रहे केंद्रीय समिति अध्यक्ष राधेश्याम शर्मा, उपाध्यक्ष राजेंद्र कुमार शर्मा,संतोष गीते, शंकरलाल कर्मा ने बताया कि यात्रा का पहला पड़ाव जयंतिमाता, दूसरा पामाखेड़ी, तीसरा नर्मदा नगर, चौथा गुजरखेड़ी, पांचवें और अंतिम दिवस शरद पूर्णिमा के दिन हाथिया बाबा (नेतनगांव) में पंचकोशी पद यात्रा का समापन होगा।यात्रा के सीतामाता मंदिर पहुचने पर इस्लामपुरा से आए सेवकों ने फरियाली वितरित की। रतनपुर पहुंचने पर इंदरसिंह परमार, दीपेंद्र काग, भूरेलाल अचाले, संजय मुकाती आदि द्वारा ध्वज पूजन कर यात्रियों को फरियाली वितरित किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local