देवास (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

जिले में शनिवार से कोरोना से अंतिम लड़ाई शुरू हो जाएगी। 24 घंटे बाद जिले में वैक्सीन का टीकाकरण शुरू हो जाएगा। सबसे पहला टीका सफाईकर्मी को लगेगा। हेल्थ वर्करों के साथ ही सफाईकर्मियों ने भी कोरोना योद्धा में अपनी अहम भूमिका निभाई। वैक्सीनेशन में 8 हजार लोगों को टीका लगाया जाना है। इसमें गुरुवार को तय किया गया है कि सबसे पहला टीका एक सफाईकर्मी को लगाया जाएगा। करीब 100 से ज्यादा सफाइकर्मी और वार्डबाय को टीका लगेगा। टीकाकरण के लिए शहर में अमलतास और जिला अस्पताल में सेंटर बनाए गए हैं। जहां 16 जनवरी से करीब 10 बजे वैक्सीनेशन शुरू होगा। इससे पहले 9 बजे पीएम नरेंद्र मोदी वैक्सीन अभियान की शुरुआत करेंगे। इसके बाद करीब 10 बजे से जिले के सेंटरों पर वैक्सीनेशन शुरू कर दिया जाएगा। वैक्सीन 16 जनवरी को सुबह ही सेंटरों पर भेजी जाएगी। जिला अस्पताल में चार सत्र स्थल होंगे। इसमें एक दिन में चार सौ लोगों को टीका लगाया जाएगा।

-जिले में 9530 टीके की पहली खेप पहुंची

बुधवार रात को जिले में 9530 टीके की पहली खेप पहुंच गई है। इसमें कुछ टीकों को रिजर्व भी रखा जाएगा, क्योंकि पहला डोज जिस बैच का लगाया जाएगा। उसी बैच का दूसरा टीका संबंधित व्यक्ति को लगाना है।

सुरक्षा में टीका..,सील लगाकर कोल्ड रूम में रखा गई वैक्सीन

वैक्सीन का टीका स्टोर रूम में सुरक्षित रखा है। बुधवार रात 10.30 बजे वैक्सीन देवास पहुंच गई थी। इसके बाद उसे सील लगाकर कोल्ड रूम में सुरक्षित तरीके से रख गया है। सुरक्षा के लिए गेट पर बंदूक के साथ पुलिसकर्मी तैनात हैं। जो अनजान व्यक्ति को अंदर जाने नहीं देते हैं। सिर्फ व्यवस्था में लगा स्टाफ ही अंदर जा सकता है। दो पुलिस जवान एक वक्त में ड्यूटी पर तैनात होते हैं।

अगर आपको टीके को लेकर कोई भ्रम हैं तो यहां से मिलेगी मदद

बस स्टैंड पर स्थित कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को अब वैक्सीन के कंट्रोल रूम में तब्दील कर दिया गया है। जहां 24 घंटे टीम तैनात रहेगी। अगर आपको टीके संबंधित कोई भी समस्या और सवाल हो तो आपको मदद मिलेगी। कंट्रोल रूम में आप कभी भी फोन लगा वैक्सीन से संबंधित जानकारी ले सकते हैं।

ये नंबर हैं कंट्रोल रूम के नंबर, यहां होगा शंका का समाधान

-07272-222202

-9406632089

सफाईकर्मी बोले-हमें पहले टीका लगेगा तो गर्व की बात है

अगर पहला टीका हमें लगाया जा रहा है तो यह हमारे लिए गर्व की बात है। हमने और हमारे सफाईकर्मी साथियों ने कोविड काल में सफाई की जिम्मेदार संभाली। कोविड वार्डों, लैब और अन्य जगहों पर पीपीई किट पहनकर काम किया। कोरोना की शुरुआत में तो टीके को लेकर कोई जानकारी नहीं थी। किसी को पता नहीं था कि टीका कब आएगा। किसे लगेगा। अब टीका आ गया है और हमें पहले लगाया जा रहा है तो हमारे सभी साथियों के लिए गर्व का पल रहेगा।

(संदीप यादव, सफाईकर्मी)

एक्सपर्ट व्यू- के कल्याणी, जिला टीकाकरण अधिकारी

सवाल-क्या वैक्सीन का टीका सुरक्षित है?

जवाब-सुरक्षा और प्रभाव जानने के बाद ही वैक्सीन को मंजूरी मिलती है। यह पूरी तरह से सुरक्षित है।

सवाल-कोई अगर गंभीर बीमारी से पीड़ित है तो वह टीका लगवा सकता है।

जवाब- जी बिल्कुल। किसी को अगर एक से अधिक बीमारी हैं तो वह हाइ रिस्क की श्रेणी में आता है। उसे कोविड टीका लेने की आवश्यकता है।

सवाल- क्या वैक्सीन टीके के साइड इफेक्ट हैं?

जवाब- टीका जांच के बाद ही लॉन्च किया जाता है। यह टीका पूरी तरह से सुरक्षित है।

सवाल- टीका कितना असरदार है। वैक्सीन से कैसे एंटीबॉडी बनती है।?

जवाब-पहले टीके बाद दूसरा टीका 28 दिन बाद लगता है। इसके 15 दिन बाद एंटीबॉडी बनती है। दूसरा डोज लगाना जरूरी है।

वैक्सीनेशन की पूरी तैयारियां हो गई हैं। सप्ताह के हिसाब से प्लान तैयार हो गया है। 16 जनवरी को शहर के दो सेंटरों पर वैक्सीनेशन शुरू होगा। पहला टीका हमारे सफाईकर्मी योद्धा को लगेगा। टीका पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

-डॉक्टर एमपी शर्मा, सीएमएचओ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस