सोनकच्छ। जीवन में अच्छे कार्य करने का अवसर कभी कभी आता है लेकिन वह कार्य हम दूसरों को दिखावे के लिए करते हैं। परंतु खुद के लिए अच्छे कार्य का समय नहीं होता है। बच्चे की फीस कितनी लग जाए, बेटा तू अच्छा पढ़ ले फीस की चिंता ना कर लेकिन मंदिर के कार्यो में कितना पैसा लग रहा, उसमें विचार विमर्श करते हैं। किसके घर में क्या हो रहा है सब को पता है लेकिन अपने निज आत्मा के घर में क्या हो रहा है किसी को नहीं पता। इसलिए आत्म दर्शन , आत्म चिंतन व आत्म कल्याण के बारे में सोचने की जरूरत है।

यह बात महावीर दिगंबर जैन मंदिर में सेठी परिवार द्वारा आयोजित सिद्धचक्रमहमंडल के अवसर पर ब्रह्मचारी मनोज लल्लन भैया ने उपस्थित भक्तों से कही। उन्होंने कहा कि आचार्य भगवान कहते हैं शरीर को जैसा चलाओ वैसा चलेगा क्योंकि आप शरीर को चलाने वाले हैं। इस शरीर को पाप की ओर ले जाना है या पुण्य की और इस पर चिंतन की आवश्यकता होती है।कहते हैं ना कि पाप के कार्य जल्दी हो जाते है लेकिन पुण्य के कार्य में बहुत समय लग जाता है। इसलिए जीवन में चार बातें हमेशा ध्यान रखें धर्म कार्य के प्रति शुद्धि, विशुद्धि, अनुसाशन और उत्साह तभी आप धर्म का सही लाभ ले पाएंगे।

जानकारी देते हुए प्रवक्ता रोमिल जैन ने बताया कि जिनमंदिर में भगवान के कलशाभिषेक, शन्तिधारा के बाद श्री सिद्धचक्रमहामण्डल विधान के प्रथम दिन सकालीकण, इंद्र प्रतिष्ठा , मंडप प्रतिष्ठा के साथ सौभाग्यवश पुण्यार्जन सेठी परिवार के सदस्यों द्वारा इंद्र इंद्राणी बने यजमानों को उपटन की क्रिया कराई। परिवार ने आपस में हल्दी लागते हुए विधान मंडल पर चतुर्थकोण में कलश विराजमान किया।मुख्य मंगल कलश यंत्र जी व जिनवाणी माता को विराजमान करते हुए विधानक्रियाओं में अपनी सहभागिता दी। जिसके बाद संगीतमय विधान करते हुए भक्तों ने प्रथम दिन भगवान की पूजा करते हुए मंडल विधान पर श्रीफलार्घ समर्पित करते हुए पुण्य लाभ लिया।शाम को आरती, प्रवचन के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजत किए गए।

04 सोन 22 सोनकच्छ। पांडुक शीला पर भगवान विराजमान करते हुए सौधर्म इंद्र।

--------

पांच साल पहले सड़क बनाई, अब हुआ नाली निर्माण

*सड़क और नाली दोनों उखड़ गई, घटिया सामग्री उपयोग करने का ग्रामीणों ने आरोप लगाया

सोनकच्छ। ग्राम रलायती में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अंतर्गत तीन साल पहले सड़क बनाई गई थी, जिसके दोनों ओर तीन साल बाद ठेकेदार द्वारा चार दिन पहले नाली निर्माण कार्य किया गया था। मंगलवार को आईं तेज बारिश में बह गईं।सड़क पूरी तरह से पहले ही उखड़ चुकी है। ग्रामीणों ने अनेक बार विभाग के इंजीनियर तनय गेहलोत को अवगत कराया।किन्तु सड़क की दशा तो नहीं सुधरी लेकिन चार दिन पहले उखड़ चुकी सड़क किनारे नाली निर्माण जरुर करवाया लेकिन वह भी पहली बारिश में बह गईं।

ग्राम रलायती के कुमेरसिंह, हरीसिंह, नरेंद्र सिंह, जयपालसिंह सभी ने बताया कि जब सड़क का निर्माण कार्य शुरू किया गया था तब भी संबंधित ठेकेदार द्वारा सड़क निर्माण कार्य में घटिया सामग्री का उपयोग किया गया था, जिसके कारण सड़क कुछ महीने में ही उखड़ गई और आज सालों बाद नाली निर्माण कार्य किया गया तो वह भी पहली बारिश में बह गईं।इस तरह सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च बनाईं जा रही। सड़क भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है।हम ग्रामीणों द्वारा अनेक बार शिकायत भी की लेकिन हर बार ठेकेदार व अधिकारी लीपापोती कर देते।

----

भोपाल रोड से चांदाखेड़ी तक रोड़ का काम जारी है। यदि ऐसी कोई बात हुई है तो मैं इंजीनियर को भेजकर दिखवाता हूं। मामले की जांच करेंगे।

-तनय गेहलोद, एसडीओ, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close