मंदसौर। दलौदा तहसील के ग्राम रीछाबच्चा के ग्रामीण बुधवार को कांग्रेस नेताओं के साथ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे। यहां पर ग्रामीणों एवं कांग्रेस नेताओं ने नारकोटिक्स विंग के खिलाफ आक्रोश जताया। कार्रवाई की मांग को लेकर पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे को ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा कि नारकोटिक्स विंग नीमच के फर्जी प्रकरणों से ग्रामीण अंचल में आक्रोश है। आए दिन नारकोटिक्स विंग किसी भी व्यक्ति को शिकार बनाकर उससे 10-20 नाम बेकसूर लोगों के लेने हेतु बाध्य करती है। उन लोगों से अवैध वसूली की जाती है। ग्रामीणों ने यह आरोप लगाते बताया कि एक प्रकरण गत दिनों दलौदा तहसील के गांव रीछाबच्चा में घटित हुआ। आरोप है कि नारकोटिक्स विंग के अधिकारी गांव में आये और कहा कि गाड़ी में बैठा हुआ व्यक्ति गांव के चार लोगों के नाम ले रहा है जिसने माल दिया। ग्रामीणों ने कहा कि आप सत्यता बताकर उन्हें गिरफ्तार कर लें। अधिकारी नीमच आने का कह गय। इससे स्तब्ध होकर गांव के कन्हैयालाल पंवार की 15 सितम्बर को हार्ट अटैक से मृत्यृ हो गई।

ग्रामीणों के साथ आए प्रदेश कांग्रेस महामंत्रीद्वय महेन्द्रसिंह गुर्जर, परशुराम सिसौदिया ने पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पांडे को बताया कि नारकोटिक्स विंग द्वारा फर्जी प्रकरण बनाए जा रहे हैं। दोषी नारकोटिक्स कर्मियों पर फर्जी प्रकरण बनाने, धमकाने, अवैध वसूली एवं हत्या का प्रकरण दर्ज करने की मांग की गई। ज्ञापन सौंपने वालों में समरथ पाटीदार, दिनेश पाटीदार, सीताराम सूर्यवंशी, हरिराम सूर्यवंशी, मोहनलाल सेन, भेरूलाल पाटीदार, दिलीप राठौर, गोपाल सूर्यवंशी, कारूलाल पाटीदार, लालाराम पाटीदार, परशराम पाटीदार, मोहनलाल डाबी, दिपकसिंह, सुन्दरलाल, अशोक, शंकरलाल, भेरूलाल, दिनेश सहित अनेक ग्रामीण उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local