राजगढ़ (नईदुनिया न्यूज)। मालवा के प्रसिद्ध अतिप्राचीन श्री नृसिंह तीर्थ पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी कार्तिक पूर्णिमा सोमवार को सादगी से मनाई गई। इस अवसर पर सुबह से ही धार्मिक आयोजनों का सिलसिला प्रारंभ हो गया था। शाम तक दर्शन-वंदन के लिए श्रद्धालुओं की आवाजाही चलती रही। कोरोना के कारण इस बार तीर्थ परिसर में सीमित संख्या में दुकानें लगी थी। इधर, मोहनखेड़ा तीर्थ पर भी पूर्णिमा मनाई गई। साधु-साध्वियों द्वारा विहार कर चातुर्मास स्थल परिवर्तन किया गया।

श्री नृसिंह तीर्थ के महंतश्री श्यामदासजी महाराज ने बताया कि पूर्णिमा के अवसर पर सुबह 7 बजे गन्नो के रस से भगवान श्री नृसिंह का अभिषेक किया गया। सुबह 9 बजे हवन में लाभार्थी शंकरलाल पटेल (पिपरनी वाले) परिवार द्वारा आहुतियां दी गई। पूर्णाहुति के बाद महाआरती उतारी गई। पूर्णिमा के अवसर पर पांच दिवसीय कार्तिक व्रत करने वाले श्रद्धालुओं द्वारा अलसुबह माही नदी में आस्था की डुबकी लगाई गई। इसके बाद भगवान के दर्शन-वंदन किए गए। इस अवसर पर राजस्थान, गुजरात एवं अन्य प्रदेशों से भी श्रद्धालुओं ने सहभागिता की थी। इसके एक दिन पूर्व रविवार को तीर्थ पर अन्नाकूट महोत्सव का आयोजन किया गया था। इस अवसर पर भगवान श्री नृसिंहजी को 56 भोग लगाया गया। अन्नाकूट में क्षेत्र के हजारों श्रद्धालुओं ने सहभागिता कर देर शाम तक प्रसादी ग्रहण की।

सीमित संख्या में लगी दुकानें

पूर्णिमा के अवसर पर तीर्थ परिसर में प्रतिवर्ष मेले के आयोजन होता है। इस बार कोरोना महामारी के कारण मेला नहीं लगा। सीमित संख्या में दुकानें लगी थी। मंदिर परिसर में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए श्रद्धालुओं ने दर्शन-वंदन किए।

पूर्णिमा पर सिद्धाचल की भाव वंदना, चातुर्मास स्थल हुआ परिवर्तन

इधर, मोहनखेड़ा में पूर्णिमा के अवसर पर मुनिश्री पीयूषचंद्रविजयजी, रजतचंद्रविजयजी, जीतचंद्रविजयजी एवं साध्वीवृंद की निश्रा में श्री सिद्धाचल पट के समक्ष सिद्धाचल भाव यात्रा के साथ गिरिराज की वंदना की गई। इसमें बड़ी संख्या में श्रावक-श्राविकाओं ने सहभागिता की। चातुर्मास समापन पर शाम को मुनि भगवंतों एवं साध्वीवृंद ने अपने चातुर्मास स्थल से विहार कर स्थान परिवर्तन किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस