धार (नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्वास्थ्य विभाग फिलहाल इसी बात पर फोकस कर रहा है कि जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या नहीं बढ़े। इसके लिए विभाग जागरूकता पर जोर देने की बात कह रहा है। जब तक वैक्सीन उपलब्ध न हो जाए, लोगों को मास्क पहनना होगा। शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें। तभी महामारी से बच सकेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि सक्रिय मरीजों की संख्या 265 से अधिक हो चुकी है। ऐसे हालात में हम चाहते हैं कि लोग जागरूक हों। हमारी तैयारियां भले ही बहुत बड़े स्तर पर हैं, लेकिन राहत तभी रह सकती है जबकि लोग बीमार ही नहीं हों।

गौरतलब है कि जिले में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। बीती रात 42 नए मरीज सामने आए थे। शासकीय से लेकर निजी चिकित्सालय के चिकित्सक की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इससे चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। खासकर मौसम के मद्देनजर फीवर क्लीनिक पर मरीजों की संख्या अधिक हो गई है। इस तरह के हालात में हर स्तर पर कहीं न कहीं दिक्कत बनी हुई है। इस बारे में जब नईदुनिया ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरसी पनिका से चर्चा कि तो उन्होंने बताया कि हम लोग विशेष रूप से इस बात पर फोकस करें कि लोगों में जागरूकता हो। यदि लोगों में जागरूकता नहीं रहेगी तो यह बीमारी फैलेगी और उसका भार स्वास्थ्य विभाग पर आना है। हमारी तैयारियां कमजोर नहीं हैं। बल्कि हमने जिले में एक हजार 500 बिस्तर की व्यवस्था कर ली है। यह व्यवस्था पहले से ही है, लेकिन इसमें हमने जो अपडेट कर सकते थे, उसे किया है। डॉ. पनिका का कहना है कि सबसे अहम बात यह है कि जागरूकता के लिए काम करना होगा। संक्रमण फैले ही नहीं, यह हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा है कि हम चाहते हैं कि लोग मास्क पहनने की आदत का बहुत ईमानदारी के साथ पालन करें। इसके अलावा समय-समय पर हाथ धोने और शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते रहें। ताकि इस बीमारी का फैलाव बहुत तेजी से नहीं हो। उन्होंने कहा कि मौसम के कारण इस बीमारी के ओर भी फैलने की समस्या है। इसके लिए हम तैयारी भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मानव संसाधन की फिलहाल कोई कमी नहीं है। जिलेभर में जहां-जहां भी कॉविड केयर सेंटर खोले गए हैं। उनको लेकर हम विशेष रूप से फोकस कर रहे हैं। ताकि स्थानीय स्तर पर ही उपलब्ध हो जाए। मरीजों को बहुत दूर तक नहीं आना पड़े।

कोविड-19 : औचक निरीक्षण के लिए दल गठित

कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने कोविड-19 के संक्रमण के बचाव के लिए समस्त शासकीय कार्यालयों के औचक निरीक्षण के लिए दल गठित किया है। इसमें अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) सिटी मजिस्ट्रेट अध्यक्ष तथा तहसीलदार व नायब तहसीलदार दल में सदस्य बनाए गए हैं। उक्त दल अपने अनुभाग के समस्त शासकीय कार्यालयों का औचक निरीक्षण करेंगे। बिना मास्क के अधिकारी, कर्मचारी, आगंतुक, आवेदक पर अर्थदंड आरोपित करेंगे। यह दल अपने अनुभाग के समस्त कार्यालयों में थर्मल स्केनर एवं सैनिटाइजर की उपलब्धता भी सुनिश्चित करवाएंगे। प्रायः शासकीय कार्यालयों में यह देखा गया है कि अधिकारी, कर्मचारी बिना मास्क के ही कार्य करते हुए देख गए हैं। आगंतुक, आवेदक भी बिना मास्क के कार्यालय में प्रवेश करते हैं। इससे कोविड-19 संक्रमण फैलने की अधिक संभावना रहती है।

90 लोगों के बनाए चालान, नौ हजार रुपए का राजस्व वसूला

-सिटी मजिस्ट्रेट विशाखा देशमुख ने दी कई लोगों को चेतावनी

धार। नगर में अभी भी मास्क पहनने को लेकर लोग गंभीर लापरवाही कर रहे हैं। इस पर सिटी मजिस्ट्रेट ने बुधवार को शहर के अनेक हिस्सों में कार्रवाई की। इसके तहत करीब 3 घंटे तक चली कार्रवाई में 90 लोगों के चालान बनाए गए हैं। इनसे करीब नौ हजार रुपए का राजस्व भी वसूल किया गया है।

नगर पालिका की टीम के साथ में सिटी मजिस्ट्रेट विशाखा देशमुख प्रमुख मार्गों का भ्रमण किया और कार्रवाई की। खासकर उन्होंने दुकानदारों को चेतावनी दी कि वे किसी भी तरह से लापरवाही नहीं करें। ग्राहकों को अपने प्रतिष्ठान में प्रवेश देने के पूर्व हाथ सैनिटाइज करवाएं और मास्क पहनने के प्रति सावधानी रखें। इसके साथ जहां पर लापरवाही की जा रही थी, वहां पर फटकार भी लगाई और कार्रवाई का डंडा भी चलाया। तीन घंटे की कार्रवाई में करीब 90 लोगों के चालान बनाए गए। उनको भी मास्क उपलब्ध कराए गए। इन लोगों से राजस्व के तौर पर करीब नौ हजार रुपए वसूले गए हैं। नगरपालिका और प्रशासन की कार्रवाई आगामी दिनों में भी जारी रहेगी।

वैवाहिक समारोह प्रारंभ

इधर कोरोना वायरस से बचने के लिए ओर भी सावधानी रखना होगी। शहर में वैवाहिक समारोह शुरू हो गए हैं। बरात के चल समारोह सड़कों पर दिखाई देने लगी है। बैंड की समधुर धुन फिर सुनाई देने लगी है। ऐसे में अब अतिरिक्त सावधानी रखना होगी। आयोजक इस बात पर ध्यान दे रहे हैं कि शारीरिक दूरी का पालन किया जाए और अन्य सावधानी रखी जाए।

मंडी में सोयाबीन के बेहतर दाम मिल रहे

धार। कृषि उपज मंडी में आवक कम हो गई है। बुधवार को उपज की 8 हजार 545 बोरी की आवक रही। इसकी मुख्य वजह है कि विवाह समारोह प्रारंभ हो चुके हैं। इसलिए किसान कम संख्या पहुंचे। मंडी में ट्रैक्टर-ट्रॉली कम आने से जाम जैसी स्थिति नहीं बनी। बुधवार को सोयाबीन 6 हजार 500 बोरी रही। इसका मूल्य 4 हजार 200 से 4 हजार 300 रुपए तक रहा। गेहूं की आवक एक हजार 320 बोरी और इसका भाव 2040 रु रहा हैं। डॉलर चना 488 बोरी और मसूर एक बोरी की आवक रही इसके दाम 4605 रुपए रहे। मक्का 121 व एक हजार 330 रुपए में बिक्री हुई। इस संबंध में सहायक उप निरीक्षक राजेश दुबे ने बताया कि किसान अपनी उपज कम संख्या में लेकर परिसर में पहुंचे। क्योंकि आज से देवोत्थान एकादशी से विवाह के आयोजन शुरू हो चुका है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस