-ट्रैफिक विभाग वाहन चालकों की ब्रीथ एनालाइजर से कर रहा जांच

-नौगांव क्षेत्र से हाईवे पर चेकिंग शुरू की, बन रहे चालान-

धार। नईदुनिया प्रतिनिधि

अगर अब शराब पीकर वाहन चलाएंगे तो खैर नहीं होगी। चालन कटेगा और आपकी गाड़ी जब्त हो जाएगी। ट्रैफिक पुलिस ने नशे में होने वाले हादसों को रोकने के लिए अभियान शुरू कर किया है। अब विभाग वाहन चालकों का ड्राइविंग के दौरान टेस्ट लेगा कि वह शराब पीकर तो वाहन नहीं चला रहा है। वाहन चालकों को ब्रीथ एनालाइजर से चेक किया जा रहा है।

विभाग की टीम द्वारा तीन-चार दिन से जिले में हाईवे पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है। इसके अंतर्गत दो पहिया वाहन से लेकर चार पहिया वाहन चालकों की जांच की जा रही है। रात में ज्यादातर दुर्घटना चालकों के शराब के नशे में होने से हो रही है। इसको लेकर टीम रात और दिन दोनों समय अभियान चलाकर जांच कर रही है। साथ ही आगे भविष्य में शराब पीकर वाहन नहीं चलाने की समझाइश भी दी जा रही है।

मेडिकल नहीं करना होगा

ज्यादातर मामले में नशे में चालकों के पकड़े जाने के बाद संबंधित को मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाना पड़ता है। इसके बाद उसकी एमएलसी बनती है, लेकिन इस अभियान में मौके पर वाहन चालक का टेस्ट हो जाएगा। मौके पर ही कार्रवाई की जाएगी। मौके पर ही यह पुष्टि हो जाएगी कि चालक शराब के नशे में है या नहीं। टेस्ट में चालक शराब के नशे में मिलने पर चालानी कार्रवाई के साथ ही वाहन भी जब्त किया जाएगा।

इस इलाकों में हो रही कार्रवाई

नौगांव धार सहित मनावर, धरमपुरी, सागोर, राजगढ़, कुक्षी, बाग के साथ हाईवे वाले इलाकों में ट्रैफिक विभाग की टीम द्वारा कार्रवाई की जा रही है। इन सभी इलाकों में दिन साथ ही रात में कार्रवाई हो रही है। चालान काटने के साथ ही वाहनों को जब्त किया जा रहा है।

अभियान शुरू कर दिया है

हमारे पास 15 ब्रीथ एनालाइजर आए हैं। इसमें संबंधित थानों पर भेज दिया है। हमारी टीम ने हाईवे पर जांच के साथ ही कार्रवाई शुरू कर दी है। ज्यादातर वाहन हादसे शराब के नशे में होते हैं। इस अभियान में जागरूक भी करेंगे ताकि लोग शराब पीकर वाहन नहीं चलाएं।

-राजेश बारवाल, ट्रैफिक इंचार्ज

19डीएचआर15- ब्रीथ एनालाइजर से वाहन चालकों को चेक किया जा रहा है।

----

सख्ती से चालन बनाए गए

धार। एसपी आदित्य प्रतापसिंह के निर्देश पर ट्रैफिक विभाग व पुलिस ने सोमवार को भी जीरो टॉलरेंस अभियान घोड़ा चौपाटी पर चलाया। इस दौरान कई लोगों ने पुलिस से बहस भी की, लेकिन सख्ती से सभी के चालान बनाए गए। कई लोगों ने फोन लगाकर बचने का प्रयास किया, लेकिन जुर्माने के बाद ही छोड़ गया। कार्रवाई में ट्रैफिक विभाग, कोतवाली व नौगांव की टीम शामिल थी। पिछले कुछ सप्ताह से लगातार बुलेट पर ज्यादा कार्रवाई की गई थी। बुलेट में साइलेंसर को लेकर चालान काटे गए थे। इससे इस बार घौड़ा चौपाटी से बुलेट कम निकले।

कई लोगों ने फोन पर नेतागिरी दिखाने के अलावा मरीज व अन्य बहानों का सहारा लिया, लेकिन पुलिस ने किसी को नहीं छोड़ा। वाहनों को कोतवाली में रखवाया गया। ट्रैफिक इंचार्ज राजेश बारवाल ने बताया कि टीम सुबह तीन घंटे कार्रवाई की है। 3 घंटे में 100 से ज्याादा चालान बनाए हैं। नौगांव टीआई राजकुमार यादव ने कहा कि वाहनों के चेकिंग के दौरान लोगों ने फोन लगाकर बचने का प्रयास किया, लेकिन सख्ती से कार्रवाई की गई।