वेतन को लेकर आक्रोश गहराया, धरने पर बैठे शिक्षक

-रैली निकालकर सौंपा ज्ञापन, सहायक आयुक्त ने जल्द निराकरण का दिया आश्वासन

धार। नईदुनिया प्रतिनिधि

मप्र ट्राइबल वेलफेयर शिक्षक एसोसिएशन के बैनर तले धार जिले के अध्यापक संवर्ग से नए कैडर में आए शिक्षकों ने स्थानीय समस्याओं को लेकर बुधवार सुबह 11 बजे कलेक्टोरेट के सामने धरना दिया। रैली निकालते हुए कलेक्टर के नाम सिटी मजिस्ट्रेट दिव्या पटेल को ज्ञापन सौंपा। आदिम जाति कल्याण विभाग के सहायक आयुक्त बृजेश कुमार पांडे शिक्षकों से मिले और वेतन सहित अन्य समस्याओं का निराकरण जल्द ही करने का आश्वासन दिया।

मप्र ट्राइबल वेलफेयर एसोसिएशन के प्रांतीय उपाध्यक्ष और राज्य अध्यापक संघ के जिला अध्यक्ष मुकेश पाटीदार के नेतृत्व में सैकड़ों अध्यापक सुबह से ही धार पहुंच गए थे। जिला प्रवक्ता इरफान मंसूरी व मीडिया प्रभारी योगेश चौहान ने बताया कि कलेक्टर के नाम सौंपे गए ज्ञापन के माध्यम से शासन और प्रशासन से मांग की गई कि एम्प्लाई कोड के अभाव में जिले के सैकड़ों अध्यापकों को 6 माह से रुके हुए वेतन का शीघ्र भुगतान किया जाए। जिले के समस्त नए कैडर के शिक्षकों को छठे वेतनमान की दूसरी किस्त का शीघ्र भुगतान किया जाए। हड़ताल अवधि 2015 का भुगतान शीघ्र किया जाए। जुलाई 2018 व जनवरी 2019 का डीए एरियर का शीघ्र दिलाएं। ग्रीन कार्ड धारकों को विशेष वेतनवृद्धि का लाभ, गुरुजी को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता देने सहित अतिथि शिक्षकों को 4 माह से लंबित वेतन का शीघ्र भुगतान की मांग की गई। इस अवसर पर धार ब्लॉक अध्यक्ष परितोष उपाध्याय, डही ब्लॉक अध्यक्ष स्वरूपचंद मालवीया, सरदारपुर ब्लॉक अध्यक्ष गौरव निगवाल, कुक्षी ब्लॉक अध्यक्ष शिवराम पाटीदार, बाग ब्लॉक अध्यक्ष विजय भावसार, धरमपुरी ब्लॉक अध्यक्ष सुनील पटेल, उमरबन ब्लॉक अध्यक्ष देवेंद्र सोलंकी, शिरीन कुरैशी, शैलेष मालवीय, योगेंद्र पांडेय आदि शिक्षक शामिल थे।

बजट : डही को सबसे ज्यादा मिला, सरदारपुर शून्य

इधर बजट के अभाव में वेतन को तरसते शिक्षकों के लिए राहत की खबर भी आई है। आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा 42 हेड में बजट जारी किया गया है। इससे नॉन एम्प्लाई कोड और अन्य ऐसे शिक्षक इनका वेतन लंबित है, उन्हें वेतन मिलने का रास्ता साफ हो गया है। जिले में सबसे ज्यादा डही विकासखंड को बजट मिला है। बताया जा रहा है कि डही बीईओ सतीशचंद्र पाटीदार ने त्वरित कार्रवाई की थी। वहीं सरदारपुर को शून्य बजट मिला है। जबकि वेतन को लेकर सबसे ज्यादा परेशानी सरदारपुर विकासखंड में है और सबसे ज्यादा संख्या भी यहीं है। जानकारी के अनुसार डही को 50 लाख, धार 28 लाख, नालछा 20 लाख, तिरला 15 लाख, मनावर 20 लाख, निसरपुर 34 लाख, बाग 33 लाख, कुक्षी 9 लाख, धरमपुरी 6 लाख, गंधवानी 19 लाख, उमरबन 8 लाख। ये वे आंकड़े हैं, जिसकी मांग बीईओ द्वारा की गई थी। इस राशि से नॉन एम्प्लाई कोड वाले वेतन से वंचित शिक्षकों का वेतन मिलेगा। बताया जा रहा है कि जिन शिक्षकों को एम्प्लाई कोड जारी हो गए हैं, उन्हें वेतन की कोई परेशानी नहीं है। हालांकि बकाया डीए, एरियर और वेतनवृद्धि को लेकर सभी शिक्षकों की समस्या है। इसे लेकर भी खासतौर पर बुधवार को शिक्षकों को जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

21डीएचआर27- मामले को लेकर शिक्षकों से चर्चा करते हुए सहायक आयुक्त। -नईदुनिया

21डीएचआर28- धार में बुधवार को शिक्षकों ने मांगों को लेकर रैली निकाली और नारेबाजी की। -नईदुनिया

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket