खबर पर नजर का लोगो लगाएं---

खिलेड़ी। शासकीय हाईस्कू ल के प्रभारी प्राचार्य को कक्षा 6 व 9 के विद्यार्थियों से साइकि ल के रखरखाव व सामग्री लाने के नाम पर 50-50 रुपए लेना महंगा पड़ गया है। इस मामले में पालकों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने आक्रोश व्यक्त कर पंचनामा बनाकर कार्रवाई की मांग की थी। 15 अगस्त को नईदुनिया में 'साइकि ल के लिए प्रति छात्र 50 रुपए वसूलने से आक्रोश' शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर विभाग का ध्यान आकर्षित कराया गया था। बदनावर बीआरसी डीएन गुजराती, प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी मंगलेश व्यास, संकु ल प्रभारी राजेंद्र लश्करी, जनशिक्षक सहित जांच दल ने बुधवार को खिलेड़ी पहुंचकर प्रभारी प्राचार्य, छात्रों, पालकों, विद्यालय के शिक्षकों व जनप्रतिनिधियों के लिखित कथन दर्ज कि ए। शासकीय अध्यापकों ने पैसे लेने की जानकारी से अनभिज्ञता जाहिर की। जबकि छात्रों, पालकों व जनप्रतिनिधियों ने 50 रुपए प्रति छात्र लेने के लिखित कथन जांच अधिकारियों को दिए। समाचार पत्र में प्रकाशित खबर व कथन सही पाए गए। प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी ने जांच के दौरान अतिथि शिक्षकों के साथ नियमित शिक्षकों की लापरवाही की बात कही है।

संयुक्त संचालक इंदौर से होगी कार्रवाई

जांच प्रतिवेदन में शिकायत सही पाई जाकर पंचनामा बनाया गया, जो संयुक्त संचालक इंदौर भेजा गया। अब वहीं से कार्रवाई होगी। जिला शिक्षा अधिकारी को प्रधानाध्यापक पर कार्रवाई का अधिकार नहीं रहता है। -मंगलेश व्यास, प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी धार

-----