-धार के परिवार के साथ नीमच में हुई थी वारदात

- न्यायालय ने सुनाया फै सला, जुर्माना भी कि या

नीमच। नईदुनिया प्रतिनिधि

विवाह समारोह में चोरी करने के मामले में न्यायालय ने एक व्यक्ति को दोषी ठहराते हुए दो साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही उस पर जुर्माना भी कि या है।

जिला लोक अभियोजन अधिकारी कार्यालय के एडीपीओ चंद्रकांत नाफड़े ने बताया कि यह फै सला न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी नीमच सुषमा त्रिपाठी ने सुनाया है। एडीपीओ नाफड़े के अनुसार यह घटना करीब छह साल पूर्व 28 मई 2013 की रात शहर के नीमच सिटी रोड स्थित पारसमणी गार्डन में हुई थी। धार के सुदीप जैन माता-पिता, पत्नी और बच्चों के साथ पारसमणी गार्डन के कमरा क्रमांक 204 में ठहरे थे। वे यहां भतीजी मीनल जैन के विवाह समारोह में शामिल होने आए थे। गार्डन में रिसेप्शन चल रहा था तभी रात करीब 10 बजे सुदीप जैन की माता कमरे में गई तो कमरे का दरवाजा खुला था। वहां से सोने का मंगलसूत्र, कड़े, कान के टॉप्स, घड़ी, मोबाइल और अन्य आर्टिफिशियल ज्वैलरी गायब थी।

जैन ने घटना की शिकायत नीमच कें ट थाने में दर्ज कराई। मामले में जांच अधिकारी और एएसआई रामयश तिवारी ने मुखबिर की सूचना के आधार पर एक संदेही को हिरासत में लिया और चोरी की घटना के संबंध में पूछताछ की। 30 मई 2013 को संदेही की निशानदेही पर चोरी गए आभूषण और अन्य सामान जब्त कि ए गए। अभियोजन पक्ष और अन्य गवाहों को सुनने के बाद न्यायालय के समक्ष आरोप प्रमाणित हो गए। इस पर न्यायाधीश ने धानुका मोहल्ला मूलचंद मार्ग नीमच के गोपाल पिता रामसिंह जाटव (27) को चोरी के आरोप में दोषी ठहराते हुए दो साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई। एक हजार रुपए का अर्थदंड कि या। न्यायालय में शासन की और से पैरवी एडीपीओ नाफड़े ने की।

Posted By: Nai Dunia News Network