पेज 14 की बॉटम

नालछा। (नईदुनिया न्यूज) काजी बाबा उर्स कमेटी द्वारा हजरत सैयद काजी जहूर अली बाबा का उर्स हजरत निजामुद्दीन शाह कलंदर दरगाह शरीफ परिसर में चादर पेश के साथ शुरु हुआ। इसके साथ ही देश में अमन व चैन की दुआएं मांगी गई। उर्स में शनिवार को वीर शहीदों की याद में रक्तदान शिविर लगाया गया। कव्वाल पार्टियों द्वारा देर रात तक कलाम पेश कि ए गए। इस पर अकीदतमंदों द्वारा नोटों की बारिश की गई।उर्स के दौरान आयोजित रक्तदान शिविर की शुरुआत थाना प्रभारी बीएस वसुनिया एवं बांग्लादेश से पधारे सूफी अब्दुल रहमान साहब, अजमेर शरीफ से खादीम सूफी अयाज बाबा साहब और सैयद नजर अली बाबा साहब द्वारा की गई। धार भोज हॉस्पिटल के डॉ. अनिल वर्मा एवं स्टााफ की निगरानी में लगभग 50 लोगों द्वारा रक्तदान कि या गया। मुख्य रुप से जहांगिरी खादीम अजमेर शरीफ, सूफी गुलाम सरवर साहब नागौर शरीफ, शेखुल मशाईख अब्दुल बाकी बाबा बुरहानपुर, सूफी मुनाफ बाबा बड़ौदा, पं. पंकज मिश्रा मुंबई, सैय्यद खुर्शीद अली साहब परली बैजनाथ मौजूद रहे।उर्स के दौरान रात में हिंदुस्तान के मशहूर कव्वाल अनिस नवाब कव्वाल पार्टी अहमदाबाद, शाहेदिन साबरी कव्वाल पार्टी रामपुर यूपी, फारुख वफा कव्वाल पार्टी मंदसौर, आफताब कव्वाल पार्टी इंदौर द्वारा कलाम पेश कि ए गए। देर रात तक कव्वालियों का दौर चलता रहा। इसमें अकीदतमंदों द्वारा नोटों की बारिश की गई। रविवार सुबह 9 बजे रंग की महफिल एवं कु ल की फातेहा के बाद उर्स का समापन होगा। साथ ही हजरत काजी बाबा साहब के पोते सैयद नजर अली बाबा द्वारा निसंतान महिलाओं को मन्नत के लड्डूओं का वितरण कि या जाएगा। उर्स में काजी बाबा ट्रस्ट द्वारा निशुल्क गरीब बच्चियों की शादी रविवार को की जाएगी। जानकारी लईक खान ने दी।

फोटो-22 एनएलसी01। नालछा दरगाह शरीफ पर उर्स के दौरान रक्तदान शिविर का शुभारंभ करते हुए नालछा थाना प्रभारी बीएस वसुनिया एवं बांग्लादेश से पधारे सूफी अब्दुल रहमान।

22 एनएलसी 02 उर्स के दौरान दरगाह शरीफ परिसर में रक्तदान करते हुए।

----------------------

उमेशमुनिजी की जयंती पर आज होंगे धार्मिक आयोजन

राजगढ़। आचार्यश्री उमेश मुनिजी के शिष्य श्री जिनेंद्रमुनिजी, श्री संदीप मुनिजी, श्री शुभेष मुनिजी, श्री अमृत मुनिजी आदि ठाणा स्थानीय महावीर स्थानक भवन में विराजित हैं। शनिवार सुबह धर्मसभा का संबोधित करते हुए श्री जिनेंद्र मुनि ने कहा कि जिनवाणी को सुनना चाहिए। इसे जीवन मे उतारना चाहिए और अधिक से अधिक समय धर्म आराधना में लगाना चाहिए। व्यक्ति को जब क्रोध आए तब उसे मौन रहना चाहिए। महासती हितेश वागरेचा ने बताया कि रविवार को आचार्यश्री उमेश मुनिजी की 88वीं जयंती है। इस अवसर पर प्रदेश सहित गुजरात, महाराष्ट्र में अनेक स्थानों पर आयोजन होंगे। स्थानक भवन पर सुबह 8ः15 से जाप, 9ः15 बजे से प्रवचन होंगे। श्रावक-श्राविकाओं द्वारा एकासना, आयंबिल, उपवास, निवि आदि तपस्या की जाएगी।

----------------------------

Posted By: Nai Dunia News Network