खबर पर नजर

- महाशिवरात्रि पर्व पर लापरवाही के पानी में बह गया था आस्था का पुल, श्रद्धालुओं ने की जिम्मेदारों पर कार्‌रवाई की मांग

धरमपुरी (नईदुनिया न्यूज)। क्षेत्र के लोगों की आस्था के प्रमुख कें द्र श्री बिल्वामृतेश्वर महादेव 'जागीरदार' के दर्शनार्थ महाशिवरात्रि पर आए हजारों श्रद्धालुओं को प्रशासन दर्शन कराने में नाकाम साबित हुआ। प्रशासन द्वारा बनाया अस्थायी पुल व मार्ग ओंकारेश्वर बांध से छोड़े गए अत्याधिक पानी की भेंट चढ़ गया। इसके चलते श्रद्धालुओं में आक्रोश है। देर शाम तक मार्ग चालू होने की आस में रुके हजारों श्रद्धालु आखिरी में मन मसोसकर बिना दर्शन के ही लौट गए। शाम को स्थानीय श्रद्धालु नाव के सहारे बेंट में पहुंचे व दर्शन कि ए। इस दौरान प्रशासन बह गए अस्थायी पुल की मरम्मत के लिए जुटा रहा। रात करीब 10 बजे पुल से आवागमन प्रारंभ हो सका। इसके बाद रात में होने वाले दिव्य दर्शन व महाआरती में शामिल होने श्रद्धालु मंदिर पहुंच सके ।

महाशिवरात्रि पर्व पर ओंकारेश्वर बांध से छोड़े गए अत्यधिक पानी व प्रशासनिक लापरवाही के चलते यहां आए श्रद्धालु भगवान के दर्शन नहीं कर पाए। प्रशासन की इस बड़ी लापरवाही से श्रद्धालुओं सहित स्थानीय नागरिकों में आक्रोश हैं। पर्व के दौरान सुबह से शाम तक मंदिर में आवागमन बंद रहा। पर्व के दौरान इस लापरवाही के लिए जिम्मेदारों के विरुद्ध कारवाई करने की मांग श्रद्धालुओं ने की है। पर्व के दौरान दिनभर प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। दिनभर अस्थायी पुल की मरम्मत का कार्य चलता रहा। पर्याप्त पाइप के अभाव में प्रशासन को सफलता नहीं मिल पा रही थी। आखिरकार शाम को पाइप बुलाए गए व कठोरा घाटी वाले मार्ग पर अस्थायी पुल को आवागमन लायक कि या गया। देर रात 10 बजे इस मार्ग से पैदल आवागमन शुरु कि या गया।

श्रद्धालुओं में आक्रोश

बिना दर्शन कि ए यहां से लौटे श्रद्धालु ने प्रशासन की लापरवाही पर आक्रोश जताया। लोगों ने कहा कि प्रशासन की इस बड़ी चूक के कारण दूर-दूर से आए श्रद्धालु भगवान के दर्शन नहीं कर पाए। इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्‌रवाई करने की बात श्रद्धालुओं ने कही।

पहले ही ये कार्य कर लेते तो पुल नहीं बहता

प्रशासन ने पर्व के दिन ही पानी में बहे अस्थायी पुल की मरम्मत कर उसे चलने लायक बनाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। पोकलेन, जेसीबी, डंपर आदि लगाकर मार्ग को पुन? चालू करने की कवायद की गई। वहीं बड़े पाइप भी बुलाए गए। यह मशक्कत जो प्रशासन ने पर्व के दिन की, वही मशक्कत यदि पर्व के पूर्व कर ली जाती तो शायद इस तरह के हालात नहीं बनते।

22डीआरआई01। धरमपुरी में महाशिवरात्रि पर्व के दौरान बहे अस्थायी पुल को फिर से बनाने का कार्य रात तक जारी रहा।

22डीआरआई02। जैसे-तैसे कर आवागमन लायक अस्थायी पुल का निर्माण कि या गया।

------------------------------

जन्म शताब्दी महोत्सव पर आज निकलेगी शोभायात्रा

कु क्षी। ब्रह्मलीन संतश्री गजानंदजी महाराज बालीपुर वाले बाबा के जन्म शताब्दी महोत्सव पर रविवार को बाबाजी की प्रतिमा की शोभायात्रा निकाली जाएगी। इसमें बालीपुर धाम के संतश्री योगेशजी महाराज (भैया), संत श्री सुधाकरजी महाराज उपस्थित रहेंगे। शोभायात्रा कु क्षी के सुतार मोहल्ला व्यायाम शाला से शुरु होकर प्रमुख मार्गों से होती हुई नई सब्जी मंडी सिंघाना मार्ग पहुंचेगी। जहां यात्रा का समापन होगा। यहां बाबाजी की महाआरती के पश्चात नगर भोज का आयोजन कि या जाएगा। शोभायात्रा में हाथी, घोड़े, ऊंट, बैंड बाजों के साथ आदिवासी लोक नृत्य के कलाकार प्रस्तुति देंगे।

-----------------------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना