सक्रिय केस में धार जिला उज्जैन से भी आगे...प्रदेश में 7 वें नंबर पर

-संभाग में भी संक्रमण में धार जिला इंदौर और खरगोन के बाद तीसरे नंबर पर पहुंचा-

-जिले के कोने-कोने में संक्रमण... आप ही नियमों का पालन कर कोरोना की रफ्तार पर लगा सकते हैं ब्रेक

धार (नईदुनिया प्रतिनिधि)। धार जिले में कोरोना कोने-कोने में पहुंचकर संक्रमण के साथ लोगों की सांसें तोड़ रहा है। हालात बेकाबू हैं। सक्रिय केस के मामले में धार जिले ने उज्जैन को भी पीछे छोड़ दिया है। उज्जैन में 15 सितंबर तक 453 सक्रिय केस हैं, लेकिन धार में यह आंकड़ा 484 तक पहुंच गया है। प्रदेश में एक्टिव केस के मामले में धार जिला 7वें नंबर पर पहुंच गया है। सितंबर जैसे ही हालात रहे तो जिला इंदौर के करीब पहुंच जाएगा, क्योंकि जिले में संक्रमण की रफ्तार बहुत तेज है। ब्रेक लगाने के लिए जिले में कोई इतंजाम नहीं हैं। प्रशासन ने भी जनता के हाथों में जिला सौंप दिया है। अब लोगों की जागरूकता और गंभीरता से ही जिले में कोरोना संक्रमण पर ब्रेक लग सकता है।

-संक्रमण में संभाग में तीसरे नंबर पर...

लगातार संक्रमण में जिला संभाग में भी आगे बढ़ता जा रहा है। इंदौर संभाग में आठ जिले हैं। इसमें बड़वानी, बुरहानपुर, धार, इंदौर, झाबुआ, खंडवा, खरगोन और आलीराजपुर आते हैं। संक्रमण के मामले में तो इंदौर और खरगोन के बाद संभाग में धार जिले का नंबर आ रहा है।

-ऐसी है जिले कोरोना केस की सक्रियता

(नोट- आंकड़े 15 सितंबर तक, मप्र के हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक)

1-इंदौर- (पॉजिटिव-17547, मौत-467, एक्टिव केस-5298)

2-भोपाल-(13646-334-1738)

3-ग्वालियर-(8029-89-2148)

4-जबलपुर-(6643-114-1235)

5- खरगोन-(2525-34-565)

6- नरसिंहपुर-(1344-7-514)

7- धार-(1497-20-484)

-लापरवाही की नींद जागिए.... क्योंकि अब तो जिले की सुरक्षा जनता के हाथों में है

-इन तीन बिंदुओं को अपनाकर कोरोना पर ब्रेक लगाया जा सकता है

01- कोरोना गाइड लाइन का पालिन करिए

अब लॉकडाउन संभव नहीं हैं, क्योंकि जिला फिर उसी रफ्तार से दौड़ रहा है। कोरोना की भी रफ्तार तेज हैं। ऐसे में सिर्फ कोरोना की रफ्तार कम करना है तो नियमों को मानिए।

02- अपने व अपने परिवार के लिए लगाएं मास्क

प्रशासन की सख्ती नहीं है। पुलिस जरूर कभी-कभी सड़क पर उतरकर मास्क नहीं पहनने पर सख्ती दिखा रही है, लेकिन इस सख्ती की वजह से नहीं अपने व अपने परिवार की जिंदगी के बारे में सोचकर मास्क लगाएं।

03- अस्पताल जाने में संकोच नहीं, बीमारी को छुपाए नहीं

लोग बीमारी को छुपाए नहीं। अस्पताल जाने में देर नहीं होना चाहिए। क्योंकि अब तो होम आइसोलेशन की सुविधा मिल रही है। अगर घर पर भी भर्ती होना चाहते हैं तो नियम के मुताबिक यह हो सकता है, लेकिन देरी और बीमारी छुपाने से कोरोना थमेगा नहीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020