राजगढ़ (नईदुनिया न्यूज)। इस सीजन में सोयाबीन ने शनिवार को अपने सारे रिकॉर्ड धराशायी करते हुए सीधे 1100 रुपये की लंबी छलांग लगा दी। शुक्रवार को जो सोयाबीन अधिकतम 6700 रुपये प्रति क्विंटल बिका था, शनिवार को इसके भाव सीधे 7800 रुपये प्रति क्विंटल पर जा पहुंचे। भाव में आए जबर्दस्त उछाल ने हर किसी को चौका दिया है। हालांकि कहा जा रहा है कि सोयाबीन प्लांट पर जबर्दस्त मांग होने की वजह से भाव में उछाल आया है।

दूसरी तरफ सोयाबीन के स्टॉक को भी एक बड़ा कारण माना जा रहा है। बहरहाल, इससे किसानों की एक बार फिर चांदी हो गई है। किसानों का कहना है कि सोयाबीन के भाव में उछाल आता है, लेकिन एक साथ 1100 रुपये प्रति क्विंटल का उछाल पहली बार देखा है। इधर, निराशा की बात यह है कि आवक का दायरा बहुत ज्यादा सिमट गया है। शनिवार को मंडी में महज 1705 क्विंटल सोयाबीन की ही आवक हो पाई।

न्यूनतम भाव एक से ज्यादा हुए कम

एक तरफ जहां उच्चतम भाव एक ही दिन में 1100 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ गए, तो दूसरी तरफ न्यूनतम भाव 1050 रुपये प्रति क्विंटल तक उतर गए हैं। मंडी के प्रांगण प्रभारी लखन जोशी ने बताया कि शनिवार को न्यूनतम भाव 2750 रुपये प्रति क्विंटल रहे। इससे पहले शुक्रवार को न्यूनतम भाव 3800 रुपये प्रति क्विंटल तक थे। हालांकि मॉडल भाव में कोई खास फेरबदल नहीं हुआ। मॉडल भाव 6200 से 6300 के बीच बने हुए हैं।

30 क्विंटल सोयाबीन बिकी 7800 रुपये

जोशी ने बताया कि शनिवार को 7800 रुपये प्रति क्विंटल के भाव से 30 क्विंटल सोयाबीन बिकी है। सोयाबीन की गुणवत्ता की वजह से ऐसा भाव मिला है। बहरहाल, अब तक मंडी में हजारों क्विंटल सोयाबीन की आवक हो चुकी है, लेकिन इससे पहले कभी भी एक साथ इतने भाव का उछाल दर्ज नहीं हुआ है। जोशी ने बताया कि अब तक 300 से 400 रुपये प्रति क्विंटल का उछाल जरूर आ रहा था, लेकिन यह पहली बार हुआ है।

सोयाबीन की आवक में भी उतार-चढ़ाव जारी

गौरतलब है कि मंडी में सोयाबीन की आवक का आंकड़ा भी अब उतार-चढ़ाव की ओर है। शनिवार को जहां 1705 क्विंटल सोयाबीन आया, वहीं इससे पहले शुक्रवार को 1097 क्विंटल सायाबीन की आवक हो पाई थी। वहीं एक दिसंबर को आवक का आंकड़ा 1330 क्विंटल था। हालांकि 30 नवंबर को आवक 2500 क्विंटल से ज्यादा जरूर दर्ज की गई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local