मनावर (नईदुनिया न्यूज)। नगर के प्रसिद्ध मान नदी तट स्थित मानता गणेश मंदिर में तिल चतुर्थी धूमधाम से मनाई गई। यहां दो दिन पहले अनुष्ठान किया गया। तिल चतुर्थी के दिन शुक्रवार को भगवान मानता गणेश का श्रृंगार कर हवन के बाद आरती की गई। तिल गणेश चतुर्थी के अवसर पर यहां भक्तों का तांता लग गया। लोगों ने भगवान गणेश के दर्शन-वंदन कर सुख-समृद्धि व कोरोना संक्रमण खत्म करने की कामना की।

तिल चतुर्थी पर मानता गणेश कालीकिराय मंदिर में आचार्य मयंक जोशी द्वारा दो दिन तक अनुष्ठान पूजा कराई गई। इसके बाद चतुर्थी पर हवन का आयोजन किया गया। हवन के मुख्य यजमान संजय अग्रवाल ने सपरिवार हवन में बैठकर आहुति दी। शाम को पूर्णाहुति के बाद भगवान गणेश की आरती की गई। मंदिर के पुजारी दिनेश बैरागी ने भगवान गणेश का पंचामृत से अभिषेक व श्रृंगार कर आरती की गई। 11 किलो तिल्ली के लड्डू का भोग लगाया गया। इसमें इंदरसिंह राजावत का सहयोग रहा। इसके बाद सुबह से ही श्रद्धालु भगवान गणेश के दर्शन करने के लिए पहुंचने लगे। दिनभर यह दौर जारी रहा। महिलाओं ने अपने घर से तिल्ली के बने पकवानों को बनाकर मंदिर में गणेशजी को भोग लगाया गया।

महिलाओं ने गणेशजी का पूजन कर लड्डुओं का लगाया भोग

बदनावर। माघ मास की तिल चतुर्थी पर शुक्रवार को किला दरवाजा स्थित प्राचीन चिंतामण गणेश मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ रही। प्रातः भगवान गणेशजी का अभिषेक कर पूजा-अर्चना की गई। अभिषेक का लाभ राजेश पाठक परिवार ने लिया। मंदिर के पुजारी प्रदीप सिद्ध ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विधि-विधानपूर्वक पूजन संपन्ना करवाई। तत्पश्चात गणेश मूर्ति का आकर्षक श्रृंगार कर 51 किलो तिल के लड्डुओं का भोग लगाया गया। सुबह से ही श्रद्धालुओं का मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए आने का सिलसिला शुरू हो गया था, जो देर रात तक चलता रहा। महिलाओं ने व्रत रखकर भगवान गणेशजी की पूजा-अर्चना कर तिल-गुड़ के लड्डुओं का भोग लगाया तथा माघ चतुर्थी व्रत की कथा श्रवण की। रात्रि में चंद्रमा का पूजन किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local