राजगढ़ (नईदुनिया न्यूज)। इन दिनों तिरला क्षेत्र में फसलों की सिंचाई में वोल्टेज बाधा बना हुआ है। पर्याप्त वोल्टेज नहीं मिलने के कारण एक पखवाड़े में करीब दस किसानों की सिंचाई मोटरें जल चुकी हैं। नतीजतन, फसलों को समय पर पानी नहीं मिलने के कारण फसलें प्रभावित हो रही हैं। बावजूद जिम्मेदारों का इस ओर ध्यान नहीं है।

गौरतलब है कि चुनार बांध बनने के बाद से तिरला क्षेत्र में किसानों को सिंचाई के लिए भरपूर पानी मिल रहा है, लेकिन बिजली साथ नहीं दे रही है। गत दिनों अन्नादाताओं ने विधायक प्रताप ग्रेवाल को समस्या से अवगत कराया था। इसके चलते विधायक ग्रेवाल ने तत्काल तिरला ग्रिड पर एक नवीन ट्रांसफॉर्मर लगवाया था, ताकि किसान फसलों को सिंचित कर भरपूर उत्पादन ले सके, लेकिन नवीन ट्रांसफॉर्मर लग जाने के बावूजद समस्या बरकरार है।

पाइप लाइन से ला रहे पानी

ग्राम सेमलिया, केरिया और छड़ावद के किसान समस्या से जूझ रहे हैं, क्योंकि उक्त गांवों के किसानों द्वारा चुनार बांध से पाइप लाइन के माध्यम से खेतों तक पानी लाया जा रहा है, लेकिन वोल्टेज की समस्या के चलते बार-बार सिचाई पंप जल रहे हैं। चुनार बांध घाटी क्षेत्र में होने के कारण जले हुए सिंचाई पंप को बांध क्षेत्र से बाहर लाना एवं उसे ठीक कराना किसानों के लिए काफी मशक्कतभरा है।

धार ले जाकर ठीक कराया पंप

सेमलिया निवासी पीडू बारिया ने बताया कि एक माह में तीन बार उनकी सिंचाई मोटर जल गई है। वोल्टेज कम आने के कारण सिंचाई पंप में गेप हो गई थी। ऐसे में उसे धार ले जाकर ठीक कराना पड़ा। इसमें करीब दस हजार से अधिक खर्चा आ गया। इसी प्रकार ग्राम छड़ावद में अमरसिंह राठौर, मूलचंद सिसौदिया, दिनेश राठौर आदि किसानों के सिचाई पंप जले हैं।

ट्रांसफॉर्मर चेक करेंगे

यदि क्षेत्र में वोल्टेज की समस्या बनी हुई है, तो शनिवार को क्षेत्र का भ्रमण कर ट्रांसफॉर्मर चेक किया जाएगा। -पप्पू परमार, प्रभारी, विद्युत वितरण केंद्र धुलेट।

समस्या हल कराएंगे

तिरला क्षेत्र के किसानों की मांग पर हाल ही में तिरला ग्रिड पर नवीन ट्रांसफॉर्मर लगाया गया है। यदि अब भी वोल्टेज संबंधित समस्या आ रही है, तो जल्द ही अधिकारियों को निर्देशित कर समस्या हल कराएंगे, ताकि अन्नादाताओं की फसलें प्रभावित न हो। -प्रताप ग्रेवाल, विधायक, सरदारपुर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local