बाग (नईदुनिया न्यूज)। बढ़ती गर्मी और गिरते भू-जल स्तर से बाग में जलसंकट की आहट सुनाई देने लगी है। बीते चार-पांच दिन से जलापूर्ति के परंपरागत स्रोतों में पानी की कमी आ गई है। इस कारण नलों के माध्यम से मिलने वाले पानी में 10 से 15 मिनट की कटौती कर दी गई है। अब जलस्रोतों में पानी एकत्रित होने का इंतजार किया जाता है। ऐसे में दोपहर तक होने वाली जलापूर्ति रुक-रुककर देर रात तक की जा रही है।

नगर की समूची आबादी के लिए जलापूर्ति की व्यवस्था छह ट्यूबवेल और एक कुएं पर निर्भर है। जबरेश्वर मंदिर ट्यूबवेल, शीतलामाता स्थित ट्यूबवेल और साधना कुटी के नजदीक कुएं से 15 बस्तियों में जलापूर्ति की जाती है। ये तीनों जलस्रोत नदी किनारे हैं, बावजूद इन्हें चार से पांच घंटे रोक-रोककर चलाना पड़ता है। इसके अलावा नरवाली रोड स्कूल के पास, चिकनी नदी पुलिया, पुरानी बावड़ी के पीछे ट्यूबवेल से पहले टंकी भरते हैं, फिर शिफ्ट में बची बस्ती में पानी सप्लाई किया जा रहा है। सदर बाजार में सप्ताह में तीन बार मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को जलापूर्ति की जाती है। बाकी सभी जगह एक दिन छोड़कर पानी दिया जाता है। इन सभी जगह अब तक 45 मिनट से एक घंटा पानी सप्लाई हो रहा था, लेकिन पानी की कमी की वजह से 10 से 15 मिनट की कटौती कर दी गई है।

कुएं ने दिया जवाब तो बढ़ी परेशानी

वाटर मैन गणेश पंवार ने बताया कि साधना कुटी के नजदीक लगभग 40 फीट गहरे कुएं में 15 से 17 फीट पानी भरा रहता था, लेकिन अब रातभर में अब केवल 10 फीट से कम पानी एकत्रित होता है। यह पानी सुबह सप्लाई करने पर चार घंटे में खत्म हो जाता है। अगली शिफ्ट को पानी देने के लिए फिर से कुएं के भरने के लिए चार-पांच घंटे का इंतजार करना पड़ रहा है जबकि 10 दिन पहले तक सभी दूर जलापूर्ति करने के बाद पानी कुएं में बचा रहता था। ट्यूबवेल में पानी की कमी के कारण पंप दो से तीन घंटे में पानी खींचना बंद कर देता है। इस कारण रात 9-10 बजे तक जलापूर्ति हो रही है। इसके पहले सुबह छह से शाम चार बजे तक पूरी शिफ्ट में पानी सप्लाई हो जाता था।

थाना डैम में भी कम हुआ जलस्तर

दरअसल, नदी किनारे स्थित इन जलस्रोतों में पानी की कमी की वजह यह है कि थाना डैम में पानी कम होता जा रहा है। थाना डैम में गेट से लगभग डेढ़ फीट नीचे पानी उतर गया है। इस कारण सीपेज यानी डैम से रिसकर बहने वाले पानी की कमी से बाघनी नदी में जल प्रवाह की स्थिति नहीं रही। हालांकि थाना डैम स्थित फिल्टर प्लांट को चलाने के लिए पंप द्वारा लिफ्ट कर संपवेल भरा जा रहा है।

प्रेशर के लिए तीन जगह से एक साथ सप्लाई

बायपास, संजय कालोनी, मुसलमान मोहल्ला, कहार मोहल्ला, मेवाती मोहल्ला में जब जलापूर्ति की जाती है तो प्रेशर के लिए दोनों ट्यूबवेल के साथ कुएं यानी तीनों जगह की मोटर एक साथ चालू कर सप्लाई करना होता है। आशंका यह है कि आने वाले दिनों में कुएं में यदि पानी की आवक कम हुई तो समस्या और गहरा जाएगी।

फिल्टर प्लांट का पानी अनुपयोगी

विडंबना यह है कि थाना डैम के फिल्टर प्लांट से टंकी भरने की व्यवस्था है, लेकिन अधिकांश परिवार इस पानी को पसंद नहीं कर रहे हैं। इसकी वजह यह बताई जा रही है कि बर्तन में पानी लेने पर रंग सफेद होता है, जो लोगों को पीने लायक नहीं दिखाई देता। जबकि कंपनी दावा कर रही है कि पानी शुद्ध है। इस संबंध में लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close