धार (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में ग्राम सरकार को चुनने का कार्य बरसते पानी में होगा। यह प्रशासन से लेकर मतदाताओं के लिए भी चुनौती भरा रहेगा। इसकी एक बड़ी वजह यह है कि किसान इस समय खेत में बोवनी का कार्य करेगा और उसी समय चुनाव के लिए मतदान होगा। पिछले 4 वर्षों से जून में 4 इंच बारिश होती है जबकि जुलाई में औसत रूप से 6 इंच बारिश होती है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि बारिश में किस तरह से चुनाव करवाए जाएंगे जबकि जून और जुलाई में बारिश का 33% कोटा पूरा होता है। यानी बारिश पहली चुनौती है। खेती कार्य दूसरी चुनौती है और इन सबके बीच में जनसंपर्क करना अपने आपमें कठिन कार्य होगा।

पांच सालों में दो माह में बारिश का हाल

इंच में आंकड़ा

वर्ष जून जुलाई

2017 5 9

2018 5 8

2019 4 12

2020 7 5

2021 4 7

तीन चरणों में होंगे चुनाव :

पहला चरण - दूसरा चरण - तीसरा चरण

निसरपुर - गंधवानी - सरदारपुर

कुक्षी - उमरबन-बाकानेर - नालछा

बाग - धरमपुरी - धार

डही - मनावर - तिरला

बदनावर - - - -

निर्वाचन कार्यक्रम :

- 30 मई : निर्वाचन अधिसूचना व नाम निर्देशन पत्र जमा करने की शुरूआत।

- 06 जून : नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की अंतिम तारीख।

- 07 जून : नाम निर्देशन पत्रों की समीक्षा।

- 10 जून : नाम वापसी का अंतिम दिन व निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थियों को चुनाव चिन्ह का आवंटन

- तीनों चरण के लिए नाम निर्देशन पत्र जमा करने सहित अन्य प्रक्रिया एक साथ चलेगी।

- मतगणना और मतदान की तारीख तीनों चरण के लिए अलग-अलग रखी गई है।

मतदान कार्यक्रम :

पहला चरण : 25 जून को पहले चरण का मतदान सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक होगा।

दूसरा चरण : 1 जुलाई को दूसरे चरण का मतदान सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक होगा।

तीसरा चरण : 8 जुलाई को तीसरे चरण का मतदान सुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक होगा।

-पंच-सरपंच के मतों की गणना मतदान समाप्ति के बाद ही हो जाएगी। परिणाम बाद में घोषित होंगे।

मतगणना कार्यक्रम :

- 14 जुलाई : जनपद पंचायत सदस्यों के तीनों चरणों के मतों की गणना सुबह 10.30 बजे से विकासखंड मुख्यालय पर होगी।

- 15 जुलाई : जिपं सदस्य पद के लिए जिला मुख्यालय धार पर सुबह 10.30 बजे से मतगणना व परिणाम की घोषणा की जाएगी।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव :

763 सरपंच, 13 जपं व 28 जिपं सदस्य सीट पर होंगे चुनाव

- 13.69 लाख मतदाता।

- 6.80 लाख पुरुष मतदाता।

- 6.89 लाख महिला मतदाता।

- 763 पंचायतों में होंगे चुनाव।

- 28 जिपं सदस्य हैं ।

- 13 जनपद में 249 जपं सदस्य हैं।

- 13 जनपद में 11295 सीट पर पंच का चुनाव होना है।

- 2535 कुल मतदान केंद्र जिले में।

- मतपत्र-मतपेटी से होगा चुनाव।

भौगोलिक विषमता की वजह से डही में प्रथम चरण में चुनाव होना फायदेमंद

डही (नईदुनिया न्यूज)। राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव के चरणवार कार्यक्रम की अधिकृत घोषणा कर दी गई है। खास बात यह है कि डही विकासखंड में तीसरे के बजाए अब प्रथम चरण में चुनाव होगा। डही के निकटवर्ती विकासखंड में भी प्रथम चरण में चुनाव होंगे जबकि इसके पूर्व डही विकासखंड में वर्ष 2015 में हुए पंचायत चुनाव में तीसरे चरण में 22 फरवरी को मतदान हुआ था। इसके पूर्व जब पंचायत चुनाव प्रक्रिया शुरू हुई थी, तब भी यहां तीसरे चरण में 16 फरवरी 2022 को मतदान होना था। लंबी जद्दोजहद के बाद पंचायत चुनाव की स्थिति स्पष्ट हुई है। इस बार डही सहित निकटवर्ती विकासखंड कुक्षी, बाग व निसरपुर में भी प्रथम चरण में चुनाव होंगे जबकि पिछले समय जब चुनाव प्रक्रिया शुरू हुई थी, तब कुक्षी को दूसरे चरण में रखा गया था। इधर, आधे जून बाद बारिश का दौर शुरू होगा। डही विकासखंड में 15 जून तक शादियों का दौर भी चलेगा। इसके बाद आदिवासी समाज के लोग खेती-बाड़ी कार्य में व्यस्त होंगे। हालांकि जुलाई में ज्यादा बारिश होती है। जिले में डही काफी भौगोलिक विषमताओं से घिरा अंचल है। दूरदराज घने व दुर्गम रास्ते हैं तो पहाड़, नदी-नालों से होते हुए फलियों से रास्ते गुजरते हैं। ऐसे में जून में बारिश इतनी खास नहीं रहती है। ऐसी स्थिति में मतदान की दृष्टि से प्रथम चरण में चुनाव होने को यहां के लोग फायदेमंद बता रहे हैं। नईदुनिया ने इस संबंध में यहां आए कुछ ग्रामीणों से चर्चा की तो इसमें पन्हाल से आए ग्रामीण मालसिंह, नरसिंह, इंदरसिंह आदि ने वर्तमान समय, मौसम व क्षेत्र की तासीर के दृष्टिगत प्रथम चरण को ज्यादा बेहतर बताया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close