सुसारी (नईदुनिया न्यूज)। डूब के गांव चिखल्दा के लगभग 1700 मतदाताओं को नर्मदानगर गणपुर चौकड़ी पुनर्वास स्थल पर बसाया गया है जबकि मतदान केंद्र डूब के गांव में आठ किमी दूर बना दिए गए हैं। मामले को लेकर यहां लोगों ने हाई कोर्ट में याचिका लगाई थी। इस पर हाई कोर्ट ने मतदान के दिन मतदान केंद्र तक वाहन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद प्रशासन ने शनिवार को पुनर्वास स्थल के दो स्थानों से 10 बसों की व्यवस्था मतदान केंद्रों तक जाने के लिए की थी। डूब प्रभावित इन बसों से मतदान केंद्र पहुंचे व मतदान किया।

डूब के गांव चिखल्दा के समीप बनाए गए तीन मतदान केंद्रों पर कलेक्टर डा. पंकज जैन ने मतदाताओं से चर्चा की। उनसे पूछा कि आप यहां तक मतदान करने कैसे आए हैं। आपके लिए जो बसें लगाई गई हैं, उसी से आए हैं या अन्य कोई साधन से। इस पर मतदताओं ने कहा कि हम प्रशासन ने जो बसें लगाई हैं, उसी से मतदान करने के लिए आए हैं।

रात्रि व दिन में किया मतदान केंद्रों का निरीक्षण

कलेक्टर डा. जैन व एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने शुक्रवार रात्रि नौ बजे सुसारी में बालक हाईस्कूल में बने आदर्श मतदान केंद्र का निरीक्षण किया। मतदान दलों से चर्चा कर जानकारी ली। शनिवार सुबह कलेक्टर व एसपी ने निसरपुर के मतदान केंद्रों का सुबह 11 बजे निरीक्षण किया। इसके बाद दोनों डूब के गांव चिखल्दा के समीप बनाए तीनों मतदान केंद्र पहुंचे। दोपहर में एक मतदान केंद्र पर कोई मतदाता नजर नहीं आया तो कलेक्टर ने पूछा मतदाता क्यों नहीं है। इस पर पीठासीन अधिकारी ने जवाब दिया कि बसों से एक साथ मतदाता आते हैं। इसके बाद कलेक्टर दोपहर ढाई सुसारी में आदर्श मतदान केंद्र पहुंचे व मतदताओं व पीठासीन अधिकारी से चर्चा की।

फोटो-

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close